मध्य प्रदेश के मंडला में नसबंदी शिविर में महिला की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया

मृतक महिला के परिजनों का कहना है कि उन्हें 50 हजार रुपये का मुआवजा मिला है, लेकिन वो चाहते हैं कि लापरवाह डॉक्टरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए

Updated: Dec 14, 2020, 07:49 PM IST

मध्य प्रदेश के मंडला में नसबंदी शिविर में महिला की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया
Photo Courtesy: Punjab Kesari

भोपाल। मध्य प्रदेश के मंडला में नसबंदी शिविर में एक महिला की मौत हो गई है। परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। मृतक महिला के परिवार वालों ने लापरवाह अमले व डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बताया जा रहा है कि मामले को तूल पकड़ता देख अस्पताल प्रबंधन ने मृतक महिला के परिजनों को 50 हजार रुपये का मुआवजा दे दिया और शव का पोस्टमार्टम भी करा दिया, लेकिन परिजन लापरवाह डॉक्टर पर कार्रवाई को लेकर अड़े हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक, मेहगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बीती रात महिलाओं के टीटी आपरेशन के लिए शिविर लगाया गया था। जहां उमरिया गांव की महिला शिवकली का भी आपरेशन किया गया। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से शिवकली की मौत हुई है। महिला की मौत की खबर के बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया। आनन फानन में शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया। लेकिन परिजनों का कहना है कि उन्हें 50 हजार रुपये का मुआवजा नहीं, लापरवाह डॉक्टरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई चाहिए। सीएमएचओ ने इस मामले में जांच का आश्वासन दिया है।

बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लग रहा हो। इससे पहले कटनी में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था। जहां एक गलत इंजेक्शन लगने की वजह से महिला की मौत हो गई थी। जिसके बाद परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया था। इस मामले का संज्ञान सीएम शिवराज सिंह ने लिया था। मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कटनी कलेक्टर शशिभूषण सिंह को फटकार लगाई थी। डॉक्टरों की लापरवाही के मामले सीएम कार्यालय तक जाने के बाद भी लापरवाही बदस्तूर जारी है