MP के 7 कांवड़ियों को UP में डंपर ने कुचला, सभी की मौत, हरिद्वार से जल लेकर जा रहे थे ग्वालियर

कांवड़ यात्रा के दौरान यूपी के हाथरस में बड़ा हादसा हुआ है। हाथरस-सादाबाद मार्ग पर एक तेज रफ्तार डंपर हरिद्वार से कांवड़ लेकर आ रहे सात कांवड़ियों को कुचल दिया। इनमें से 6 कांंवड़ियों की मौके पर मौत हो गई, जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया

Updated: Jul 23, 2022, 12:15 PM IST

MP के 7 कांवड़ियों को UP में डंपर ने कुचला, सभी की मौत, हरिद्वार से जल लेकर जा रहे थे ग्वालियर

हाथरस। मध्य प्रदेश के कांवड़ियों के साथ उत्तर प्रदेश में भीषण हादसा हो गया है। हाथरस जिले के सादाबाद रोड पर एक अनियंत्रित डंपर ने कांवड़ लेकर जा रहे सात कांवड़ियों को रौंद दिया। हादसा इतना भीषण था कि छह की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सभी कांवड़िये गंगाजल लेकर हरिद्वार से ग्वालियर जा रहे थे। कांवड़ियों का जत्था जब हाथरस-सादाबाद रोड से गुजर रहा था तब एक तेज रफ्तार डंपर ने उन्हें कुचल दिया। आगरा जोन एडीजी राजीव कृष्ण का कहना है कि यह हादसा देर रात करीब 2 बजकर 15 मिनट पर हुआ।

यह भी पढ़ें: आर्थिक तंगी से जूझ रहे स्कूली कर्मचारी ने पूरे परिवार सहित की सुसाइड, घर से चार लाशें बरामद

हादसे के बाद घटना स्थल पर चीख पुकार मच गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल कांवड़ियों को अस्पताल में भर्ती कराया। जबकि मौके पर मृत 6 कांवड़ियों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम केे लिए भिजवाया। इसी बीच उपचार के दौरान अस्पताल मेें एक और कांवड़िये ने भी दम तोड़ दिया। इस हादसेे में सभी 7 कांवड़ियों की मौत हो गई।

सभी कांवड़िये ग्वालियर के बांगीपुरा गांव के रहने वाले बताए जा रहे हैं। हाथरस प्रशासन के मुताबिक ये हादसा सादाबाद-ग्वालियर रूट पर हुआ। यह रूट कांवड़ यात्रा का पारंपरिक रूट नहीं है। इस कारण इस रूट पर कांवड़ियों के लिए ट्रैफिक बंद नहीं किया जाता है जबकि पारंपरिक रूट पर कावड़ियों को सुरक्षित रास्ता देने के लिए ट्रैफिक बंद किया जाता है।  हाथरस ​​​​​​प्रशासन ने सभी मृतक कांवड़ियों के परिजन को 1-1 लाख रुपए की मदद देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना को लेकर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई सड़क दुर्घटना में ग्वालियर के कांवड़ियों के निधन का हृदय विदारक समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान और शोकाकुल परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि!
।। ॐ शांति।।'