Coronavirus: DGCA ने 31 दिसंबर तक बढ़ाई अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की पाबंदी

वंदे भारत मिशन और एयर बबल व्यवस्था रहेगी चालू, 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाएं है बंद

Updated: Nov 27, 2020, 01:00 AM IST

Coronavirus: DGCA ने 31 दिसंबर तक बढ़ाई अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की  पाबंदी
Photo Courtesy: Navbharat times

दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 8 महीने से लगा आपातकाल आगे भी जारी रहेगा। भारत सरकार ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र इसे 31 दिसंबर तक बढ़ाने का फ़ैसला किया है   डीजीसीए ने कहा है कि भारत में 31 दिसंबर 2020 तक किसी भी कॉमर्शियल इंटरनेशनल फ्लाइट के आने-जाने पर रोक जारी रहेगी। इंटरनेशनल फ्लाइट्स ना तो भारत से बाहर जाएंगी और न ही दूसरे देशों से आ सकती हैं। जबकि इस दौरान वंदे भारत मिशन और एयर बबल समझौते के तहत चलने वाली उड़ानें जारी रहेंगी।

गौरतलब है कि इससे पहले डीजीसीए ने 30 नवंबर तक इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक बढ़ाने का आदेश दिया था। जिसे बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि यदि कोरोना वायरस की वैक्सीन आने में और देरी होने पर इसकी मियाद और बढ़ाई जा सकती है।

आपको बता दें कि कोविड 19 वायरस की वजह से भारत में 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाएं बंद हैं। मई में सरकार ने वंदे भारत मिशन और जुलाई से एयर बबल व्यवस्था के तहत कुछ देशों के लिए विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें चलाई थीं। 18 देशों के साथ भारत ने एयर बबल समझौता किया है। वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों से 20 लाख से ज्यादा भारतीय वापस लौटे हैं। वहीं देश के भीतर आवागमन के लिए घरेलू उड़ान सेवाएं करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 25 मई से संचालित होने लगी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार  देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 92.66 लाख पहुंच चुका है, जिनमें से 86.79 लाख लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। जबकि कोरोना से 1,35,223 लोगों की मौत हुई है।