नंदीग्राम का महासंग्राम, सख्त पहरे के बीच ममता और अधिकारी के बीच चुनावी मुक़ाबला , धारा 144 लागू

नंदीग्राम में कुल 355 पोलिंग बूथ हैं जहां केंद्रीय सुरक्षा बल की 22 कंपनियों को तैनात किया गया है, इतना ही नहीं 75 फीसदी बूथों पर वेबकास्टिंग की तैयारी

Updated: Mar 31, 2021, 05:21 PM IST

नंदीग्राम का महासंग्राम, सख्त पहरे के बीच ममता और अधिकारी के बीच चुनावी मुक़ाबला , धारा 144 लागू
Photo Courtesy : ABP

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की चुनावी सीरीज का दूसरा और सबसे अहम मुकाबला कल होने जा रहा है। राज्य में कल दूसरे चरण के तहत 30 सीटों पर वोटिंग होगी। इसी चरण में बंगाल चुनाव का सबसे हॉट सीट नंदीग्राम भी शामिल है। नंदीग्राम के महासंग्राम में एक ओर सूबे की मुखिया और टीएमसी सुप्रीमों ममता बनर्जी हुंकार भर रही हैं, वहीं ममता के खिलाफ कभी उनके सबसे करीबी रहे शुभेंदु अधिकारी ताल ठोक रहे हैं। 

नंदीग्राम में कल सख्त पहरे के बीच ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी की किस्मत ईवीएम मशीन में कैद होगी। इसके लिए प्रशासन ने पुख्ता तैयारियां कर ली है। आज शाम से ही नंदीग्राम में धारा-144 लागू कर दिया गया है। नंदीग्राम में कुल 355 पोलिंग बूथ हैं, जहां केंद्रीय सुरक्षा बल की 22 कंपनियों को तैनात किया गया है। इनमें करीब 1600 हथियारबंद जवान तैनात रहेंगे। 

यह भी पढ़ें: महुआ मोइत्रा ने गिरिराज को कहा चोटी वाला राक्षस, गिरिराज का जवाब जो दीदी हैं, वही मैं भी हूँ

पहले चरण के चुनाव के दौरान हुई हिंसा से सबक लेते हुए चुनाव आयोग की नजर इस बार खासतौर पर नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र पर है। हिंसा की संभावनाओं के बीच सबसे ज्यादा फोर्स यहीं तैनात किए गए हैं। नंदीग्राम के 75 फीसदी बूथों की वेबकास्टिंग करने की तैयारी है। इसके अलावा 22 QRT यानी क्विक रिस्पॉन्स टीम को भी तैनात किया गया है जो किसी भी विषम परिस्थितियों में भयमुक्त और शांतिपूर्ण चुनाव सुनिश्चित करेंगे।

नंदीग्राम की लड़ाई बीजेपी और टीएमसी के लिए नाक की लड़ाई बन चुकी है। इस बार खुद ममता बनर्जी ने भवानीपुर सीट छोड़कर नंदीग्राम का रूख किया है। नंदीग्राम से चुनाव जीतने के लिए ममता बनर्जी कोई कोर-कसर नहीं छोड़ा है। वहीं बीजेपी ने अपने नए नवेले सिपहसलार के लिए नेताओं की फौज खड़ी कर दी थी। शुभेंदु की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई राज्यों के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों को मैदान में प्रचार के लिए उतारा गया।

यह भी पढ़ें: ममता ने कबूली BJP नेता को किए कॉल की बात, बोलीं- बातचीत लीक करना अपराध

 पूरे बंगाल में CAPF की 800 टुकड़ियां तैनात

दूसरे चरण में राज्य के कुल 30 विधानसभा क्षेत्रों में वोटिंग होनी है। इसके लिए इन क्षेत्रों में सुरक्षाबलों की कुल 800 कंपनियों को तैनात किया गया है। दूसरे चरण में कुल 10, 620 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इस चरण में कई अन्य दिग्गजों की किस्मत दांव पर है। क्रिकेटर से नेता बने अशोक डिंडा टीएमसी से तो अभिनेता से नेता बने हिरण्मय जैसे उम्मीदवारों का किस्मत भी कल ईवीएम में कैद होगा।