ममता बनर्जी ने जारी किया घोषणा पत्र, साल में 5 लाख नौकरियाँ देने का वादा

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने घोषणापत्र में SC-ST और विधवाओं को हर साल 12 हजार रुपये देने का वादा भी किया है,

Updated: Mar 17, 2021, 08:01 PM IST

ममता बनर्जी ने जारी किया घोषणा पत्र, साल में 5 लाख नौकरियाँ देने का वादा
Photo Courtesy : India Today

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर से सत्ता में आने पर हर साल पांच लाख लोगों को नौकरियां देने का वादा किया है। तृणमूल कांग्रेस के आज जारी किए गए चुनावी घोषणा पत्र में इसके अलावा भी कई लुभावने वादे किए गए हैं, जिनमें अनुसूचित जाति-जनजाति के लोगों और विधवाओं को हर साल 12 हज़ार रुपये देने का वादा भी शामिल है। सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को भी साल में 6 हज़ार रुपये दिए जाएंगे।

ममता ने अपने घोषणा पत्र को मां, माटी और मानुष के लिए समर्पित बताया है। उन्होंने अपने 10 साल के कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि उनकी सरकार ने जो काम किया है उसकी पूरी दुनिया ने तारीफ की है। 47 लाख परिवारों तक नल से पानी पहुंचाया गया है, 1.5 करोड़ लोगों मुफ्त राशन दिया गया है। 

विधवा, बुजुर्ग, दिव्यांग लोगों को 12 हजार रुपए सालाना देने का वादा

तृणमूल कांग्रेस के इस बार के घोषणापत्र कई मायनों में खास है। ममता ने कहा है कि इस बार सरकार में आने पर विधवा, वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग सहित आर्थिक रूप से कमजोर लोगों 1000 रुपये महीने यानी सालाना 12 हजार रुपए दिए जाएंगे। ओबीसी और एसी और एसटी वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए प्रति वर्ष 12000 रुपये वहीं सामान्य वर्ग के लिए 6 हजार रुपए सालाना दिए जाएंगे। यह पैसा घर की बड़ी महिला को दिया जाएगा।

किसानों को मिलेंगे 10 हजार रुपए सालाना

ममता ने कहा है कि राज्य में अब तक किसानों को राज्य सरकार द्वारा साल में 6000 रुपए दिए जाते थे, जिसे   बढ़ाकर 10 हजार रुपये कर दिया जाएगा। इससे राज्य के 68 लाख किसानों को सीधा फायदा होगा। छात्रों और नौजवानों के लिए ममता ने हर साल पांच लाख नौकरियां देने का वादा किया है। इसके साथ ही ममता ने छात्रों के लिए विशेष क्रेडिट कार्ड स्कीम शुरू करने का वादा भी किया है, जिसके तहत छात्रों को पढ़ाई के लिए 10 लाख रुपए तक का लोन महज 4 फीसदी ब्याज पर दिया जाएगा।

10 लाख MSME यूनिट बनाने का एलान

सीएम ममता ने बंगाल आवास योजना के तहत 25 लाख घर बनाने में मदद, पहाड़ी इलाकों में विकास की गति बढ़ाने के लिए पहाड़ विकास बोर्ड का गठन और 10 लाख MSME यूनिट बनाने का ऐलान किया है। ममता ने डोर स्टेप डिलीवरी की शुरुआत करने का वादा करते हुए कहा है कि इस बार से लोगों को घर-घर राशन जाकर पहुंचाया जाएगा। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा है कि पुराने जितने भी जनकल्याणकारी योजनाएं चल रहीं थी वह सभी लागू रहेंगी। टैबलेट, साइकिल व अन्य चीजों के लिए पैसा मिलता रहेगा।

बंगाल न कभी बंटा, न बंटेगा : ममता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि उनका मेनिफेस्टो जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा तैयार किया गया दस्तावेज बताया है। उन्होंने कहा कि टीएमसी का घोषणापत्र सभी धर्मों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। ममता बनर्जी ने कहा है कि पश्चिम बंगाल न तो बंटा है और न ही बंटेगा। ममता ने कहा कि पिछले एक साल में  कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन की वजह से सरकार के कई काम अधूरे रह गए, फिर भी तृणमूल कांग्रेस की सरकार ने हमेशा पूरी ताकत से लोगों की सेवा की है। ममता ने कहा, 'आप जानते हैं कि हमने अपने वादे हमेशा पूरे किए हैं। हम लोगों ने जो काम किया, उसकी तारीफ दुनियाभर में हो रही है। हमें संयुक्त राष्ट्र से पुरस्कार भी मिला है।'