मथुरा के बांके बिहारी मंदिर में बड़ा हादसा, आधी रात दर्शन के लिए उमड़ी भक्तों की भीड़, 2 की दम घुटने से मौत

मथुरा के बांके बिहारी मंदिर में साल में एक बार होने वाली मंगला आरती के समय मंदिर में श्रद्धालुओं की क्षमता से कई गुना ज्यादा संख्या होने के कारण दम घुटने से दो श्रद्धालुओं की मौत हो गई।

Updated: Aug 20, 2022, 09:19 AM IST

मथुरा के बांके बिहारी मंदिर में बड़ा हादसा, आधी रात दर्शन के लिए उमड़ी भक्तों की भीड़, 2 की दम घुटने से मौत

मथुरा। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर सुप्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में होने वाली मंगला आरती के समय दर्दनाक हादसा हो गया। अत्यधिक भीड़ हो जाने के कारण कुछ श्रद्धालुओं का दम घुट गया, जिसकी वजह से 2 श्रद्धालुओं की मौत हो गई जबकि 6 के करीब घायल हो गए। घायलों को फिलहाल वृंदावन के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। मरने वालो में एक महिला और एक पुरुष है। हादसे के बाद हालात बेकाबू थे लेकिन अब हालात सामान्य है।

दरअसल, बांके बिहारी मंदिर में साल में एक बार होने वाली मंगला आरती के समय मंदिर में श्रद्धालुओं की क्षमता से कई गुना ज्यादा संख्या थे। अत्यधिक भीड़ के कारण लोगों का दम घुटने लगा था। इसी वजह से दो श्रद्धालुओं की मौत भी हो गई। भीड़ अधिक होने के कारण सफोकेशन हुआ और कई श्रद्धालु घायल होते चले गए। हादसे में नोएडा सेक्टर 99 निवासी महिला निर्मला देवी पत्नी देव प्रकाश व भूलेराम कॉलोनी रुक्मणि बिहार वृंदावन निवासी 65 वर्षीय राम प्रसाद विश्वकर्मा की मौत हो गई। राम प्रसाद मूल रूप से जबलपुर के रहने वाले थे।

यह भी पढ़ें: देहरादून में फटा बादल, नदी नाले उफान पर, टपकेश्वर में बाढ़ जैसे हालात, SDRF ने संभाला मोर्चा

गनीमत रही की मंदिर में जिस समय हादसा हुआ, उस समय डीएम, एसएसपी, नगर आयुक्त सहित भारी पुलिस बल मौजूद था। हादसा होते ही पुलिस और निजी सुरक्षा कर्मियों ने बेहोश हो रहे श्रद्धालुओं को मंदिर से निकालना शुरू कर दिया। इस हादसे में घायल हुए श्रद्धालुओं को वृंदावन के राम कृष्ण मिशन, ब्रज हेल्थ केयर और सौ शैय्या अस्पताल भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने दो श्रद्धालुओं को मृत घोषित कर दिया।

हादसे के बाद अस्पताल पहुंचे परिजन बिना पोस्टमार्टम कराए शवों को ले गए। रात करीब 1 बजकर 55 मिनट पर हुए इस हादसे के बाद एसएसपी ने बताया कि स्फोकेशन अधिक हो जाने के कारण यह हादसा हुआ। फिलहाल स्थिति पूरी तरह कंट्रोल में है और घायलों का इलाज चल रहा है। काफी श्रद्धालुओं को मंदिर से बाहर आ कर हवा मिलने के बाद राहत मिल गई।