बिहार में विधानसभा अध्यक्ष पर भड़के बीजेपी के मंत्री, विपक्ष ने मर्यादा तोड़ने का लगाया आरोप

नीतीश सरकार में बीजेपी कोटे के मंत्री सम्राट चौधरी को विधानसभा अध्यक्ष ने ऑनलाइन जवाब दाखिल नहीं करने पर टोका तो उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को ही हड़काना शुरू कर दिया

Updated: Mar 17, 2021, 03:13 PM IST

बिहार में विधानसभा अध्यक्ष पर भड़के बीजेपी के मंत्री, विपक्ष ने मर्यादा तोड़ने का लगाया आरोप
Photo courtesy: ABP

पटना। बिहार विधानसभा में आज नीतीश सरकार के एक मंत्री सदन के भीतर अपने दबंगई भरे बर्ताव की वजह से विपक्ष के निशाने पर आ गए। लेकिन हैरानी की बात यह है कि बीजेपी कोटे के इस मंत्री पर किसी विपक्षी विधायक के साथ नहीं, बल्कि विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा के साथ गलत ढंग से बात करने का आरोप लगा है। बीजेपी के यह मंत्री हैं सम्राट चौधरी, जिन्होंने सदन के भीतर विधानसभा अध्यक्ष से ऐसा बर्ताव किया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

विधानसभा के बजट सत्र की कार्यवाही के दौरान आज उस वक्त सभी हैरान हो गए जब नीतीश सरकार के मंत्री सम्राट चौधरी सदन में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा के साथ बेहद गलत अंदाज़ में बात की। प्रश्नकाल के दौरान जवाब देने के लिए खड़े हुए मंत्री सम्राट चौधरी को जब विधानसभा अध्यक्ष ने ऑनलाइन जवाब दाखिल नहीं करने पर टोका तो वे भड़क गए और सदन में ही विधानसभा अध्यक्ष को हड़काने लगे।

बिहार सरकार में पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी बीजेपी विधायक पवन जायसवाल के सवाल का जवाब देने खड़े हुए थे। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने उन्हें टोकते हुए कहा कि आपका ऑनलाइन जवाब नहीं आ रहा। जवाब में मंत्री ने दावा किया कि उन्होंने 16 में से 14 सवालों के ऑनलाइन जवाब दे दिए हैं, आप पता कर लीजिए। विधानसभा अध्यक्ष ने फिर से कहा कि उन्हें ऑनलाइन जवाब अब तक नहीं दिख रहे हैं। स्पीकर ने मंत्री से कहा कि आप अपने विभाग के अधिकारियों से इस बारे में एक बार बात कर लें। 

स्पीकर की इस हिदायत पर सम्राट चौधरी भड़क उठे और कहा, " ठीक है, बहुत ज्यादा व्याकुल नहीं होना है।" जब स्पीकर ने उनसे अपने शब्द वापस लेने को कहा तो मंत्री ने उनकी बात मानने की बजाय दबंगई वाले अंदाज़ में  कहा, " अध्यक्ष जी ऐसे सदन नहीं चल सकता। आप डायरेक्शन नहीं दे सकते। आप इस तरह सदन नहीं चला सकते। आप समझ लीजिए, ऐसे कीजिएगा तो सदन नहीं चलेगा। बहुत व्याकुल नहीं होइए।" मंत्री के इस अक्खड़ बर्ताव से नाराज़ विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

सदन के अंदर हुई इस घटना की आरजेडी विधायक और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने निंदा की है। उन्होंने ट्वीट किया है, " मर्माहत हूँ। बिहार में सत्ता पक्ष और मंत्री सदन की गरिमा और आसन की महत्ता को तार-तार कर रहे हैं। सरकार के एक भाजपाई मंत्री अध्यक्ष महोदय की तरफ़ उंगली उठाकर कह रहे है कि व्याकुल मत होईए। ऐसे सदन नहीं चलेगा। कैसे-कैसे लोग मंत्री बन गए हैं, जिन्हें लोकतांत्रिक मर्यादाओं का ज्ञान नहीं?"

 

 

बिहार विधानसभा में बीजेपी के मंत्री के इस बर्ताव का वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। हैरान करने वाली बात तो यह है कि सदन में स्पीकर के साथ इस तरह का बर्ताव कोई विपक्षी नेता नहीं बल्कि खुद सरकार के मंत्री कर रहे हैं। जबकि सदन को ठीक से चलाने की मुख्य जिम्मेदारी सत्ता पक्ष की मानी जाती है। ऐसे में अगर मंत्री ही ऐसा बर्ताव करेंगे, जिससे स्पीकर को कार्यवाही स्थगित करनी पड़े तो सदन की मर्यादा का क्या होगा?