मोदी सरकार के खिलाफ एक्शन मोड में कांग्रेस, देश भर में 5500 ट्रेनर्स करेगी तैयार

कांग्रेस पार्टी ने देश भर में अपने 5500 ट्रेनर्स तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया है, यह सभी ट्रेनर्स मोदी सरकार की विफल नीतियों से जनता को अवगत कराएंगे, इसके साथ ही वे कांग्रेस पार्टी द्वारा किये गये जनहितकारी कार्यों को जनता तक पहुँचायेंगे

Publish: Dec 27, 2021, 06:41 PM IST

मोदी सरकार के खिलाफ एक्शन मोड में कांग्रेस, देश भर में 5500 ट्रेनर्स करेगी तैयार

नई दिल्ली। अगले लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार को घेरने के लिये कांग्रेस ने अपनी कमर कस ली। जनता के बीच मोदी सरकार को बेनकाब करने के लिये कांग्रेस पार्टी एक्शन मोड में आ गयी है। कांग्रेस पार्टी ने देश भर में अपने 5500 ट्रेनर्स तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया है, जो कि जनता को मोदी सरकार की विफल नीतियों से अवगत करायेंगे। इसके साथ ही यह ट्रेर्नर्स कांग्रेस पार्टी द्वारा किये गये जनहितकारी कार्यों को भी जनता के बीच लेकर जायेंगे।  

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के नेतृत्व वाली आंदोलन योजना समिति इस संबंध में रूपरेखा तैयार कर रही है। महंगाई के मुद्दे पर सफल जनजागरण अभियान के बाद अब तैयारी बेरोज़गारी और सरकारी कंपनियों के निजिकरण के खिलाफ हल्ला बोलने की है। आंदोलन योजना समिति कांग्रेस पार्टी का पक्ष जन-जन तक पहुँचाने के इरादे के साथ ट्रेनर्स तैयार करने जा रही है।  

यह भी पढ़ेंगे ः कटरीना को छोड़ इंदौर में किसके साथ लुका-छिपी कर रहे हैं विक्की कौशल, वीडियो वायरल

जनता के बीच रखेंगे पार्टी का पक्ष 
देश भर में तैयार किये जाने वाले इन ट्रेनर्स का काम समाज में चर्चा के दौरान कांग्रेस पार्टी का पक्ष रखने का होगा। समाज में होने वाली तमाम राजनीतिक चर्चाओं के दौरान यह ट्रेनर्स मोदी सरकार की विफल नीतियों का लेखाजोखा जनता के समक्ष रखेंगे। वहीं यह ट्रेनर्स जनता को यह भी बतायेंगे कि जिन सरकारी कंपनियों को खड़ा कर कांग्रेस ने देश के लोगों के लिये रोज़गार सृजित किया, आज उन्हीं कंपनियों को मोदी सरकार बेचने पर आमादा है। बेरोज़गारी और निजिकरण के ज़रिए कांग्रेस पार्टी आरक्षण को भी जोड़ेगी। 

यह भी पढ़ें ः पूर्वजों की गलती पर सिंधिया का प्रायश्चित, रानी लक्ष्मीबाई की समाधि स्थल पहुंचे महाराज

राजनीतिक विमर्श खड़ा करने के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी बीजेपी और आरएसएस को समाजिक विमर्श में भी पछाड़ने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस पार्टी गांधी, नेहरू, सरदार पटेल और सावरकर से जुड़े तथ्यों को जनता के बीच लेकर जाएगी। वहीं कांग्रेस पार्टी इसके लिये राम पुन्नानी और आदित्य मुखर्जी जैसे इतिहासकारों की मदद भी लेने वाली है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस अभियान के बाद कांग्रेस पार्टी एक और बड़े रैली का आयोजन करेगी, जो कि बेरोज़गारी और निजिकरण के मुद्दे पर होगी। इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी नये नये मुद्दों पर ऐसे ही जनता को जोड़े रखेगी और अगले लोकसभा चुनावों तक यह सिलसिला जारी रहेगा।