कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ नासिक से मुंबई तक किसानों का मार्च, 15 हज़ार से ज़्यादा किसान शामिल

किसानों का मार्च सोमवार को मुंबई के आज़ाद मैदान पहुंचेगा, जहां एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भी उसमें शामिल होने की उम्मीद है

Updated: Jan 24, 2021, 04:04 PM IST

कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ नासिक से मुंबई तक किसानों का मार्च, 15 हज़ार से ज़्यादा किसान शामिल

मुंबई। कृषि कानूनों के विरोध में महाराष्ट्र के नासिक से किसानों का हुजूम मुंबई की ओर निकल पड़ा है। ये सभी किसान सोमवार को मुंबई में होने वाली रैली में शामिल होने जा रहे हैं। इस रैली में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार भी शामिल होने वाले हैं।

दरअसल किसानों का यह जत्था अखिल भारतीय किसान महासभा के बैनर तले निकला है। करीब 15 हज़ार से ज़्यादा किसान इस मार्च में शामिल हैं। ये सभी आंदोलनरत किसानों के प्रति अपना समर्थन पेश करने के लिए मुंबई के आज़ाद मैदान में एकत्रित होंगे। किसानों के इस मार्च में केंद्र सरकार और विशेषकर प्रधानमंत्री मोदी के विरुद्ध जमकर नारेबाज़ी हो रही है। मार्च में शामिल किसान प्रधानमंत्री मोदी को कॉरपोरेट का मित्र और किसान विरोधी बता रहे हैं। 

दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की सरकार किसानों को दिल्ली में संभावित ट्रैक्टर रैली में शामिल होने से रोकने के लिए अनेक हथकंडे अपना रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के साथ साथ भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी यह दावा कर रहे हैं कि दिल्ली में ट्रैक्टर रैली को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश के पश्चिमी ज़िलों के पेट्रोल पंप पर किसानों को ट्रैक्टर में डीजल भरने नहीं दिया जा रहा है।