अभय चौटाला का आरोप, दिल्ली में हुई हिंसा केंद्र सरकार की साज़िश का नतीजा

INLD नेता अभय चौटाला ने हरियाणा विधानसभा से इस्तीफ़ा देने के बाद मोदी सरकार पर लगाया संगीन आरोप, कहा केंद्र की साज़िश के कारण दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा

Updated: Jan 27, 2021, 09:03 PM IST

अभय चौटाला का आरोप, दिल्ली में हुई हिंसा केंद्र सरकार की साज़िश का नतीजा
Photo Courtesy: Amar Ujala

चंडीगढ़। भारतीय राष्ट्रीय लोकदल (INLD) के नेता अभय सिंह चौटाला ने बुधवार को हरियाणा विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद मोदी सरकार पर तीखा हमला किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन जो कुछ भी हुआ, वह केंद्र सरकार की साजिश थी। अभय चौटाला ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन का एलान करते हुए विधानसभा से इस्तीफा दिया है। अभय चौटाला ख़ुद ट्रैक्टर चलाकर हरियाणा विधानसभा पहुँचे और विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता को इस्तीफा सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष ने भी उनका इस्तीफा मंजूर भी कर लिया है।

 

 

अभय के इस्तीफे के साथ ही सियासत गर्माएगी, क्योंकि अभय का यह मानना था कि उनके बाद कई और विधायक इस्तीफा देने के लिए मजबूर होंगे। अभय का मानना है कि जो विधायक ऐसा नहीं करेंगे, उन्हें अपने हलके में जनता का सामना करना मुश्किल होगा जिसमें सबसे ज्यादा परेशानी दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (JJP) के नेताओं को होगी।

अभय चौटाला ने अपने भतीजे और हरियाणा की खट्टर सरकार के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का नाम लिए बिना कहा कि जो लोग चौधरी देवीलाल के नाम पर किसानों को गुमराह करके सत्ता में आए हैं उनके लिए जवाब देना मुश्किल हो जाएगा। INLD नेता ने कहा कि इनका भविष्य तो इस आंदोलन ने तय कर दिया है। मैंने विधानसभा में कहा था कि जो लोग इस कानून का समर्थन करेंगे उनकी तीन पीढ़ियां गांव में पंच बनने की भी हकदार नहीं रहेंगी।

अभय चौटाला ने कहा कि JJP के जो लोग लूट खसोट में शामिल हैं और जिनकी फाइलें तैयार हो गई हैं, वे लोग आने वाले समय में भाजपा में शामिल होंगे, जबकि INLD के जो लोग भ्रमित हो गए थे, वे आने वाले समय में वापस लौट आएंगे।