भेड़ियों की तरह भाजपा सांसदों ने सोनिया गांधी को घेर रखा था: महुआ मोइत्रा ने सुनाया पूरा वाक़या

भाजपा के सांसद सोनिया गांधी को घेरकर चिल्ला रहे थे, वहां कांग्रेस का कोई सांसद नहीं था, मैं उन्हें वहां से ले जाना चाहती थी, लेकिन वह कह रहीं थीं कि मैं किसी से डरती नहीं हूं: टीएमसी सांसद ने सुनाया आंखों देखा हाल

Updated: Jul 28, 2022, 09:47 PM IST

भेड़ियों की तरह भाजपा सांसदों ने सोनिया गांधी को घेर रखा था: महुआ मोइत्रा ने सुनाया पूरा वाक़या

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को संसद में जमकर फटकारा। इस घटना को लेकर बीजेपी मंत्री कई तरह के आरोप लगा रहे हैं। जबकि पूरी कांग्रेस सोनिया गांधी की तरफ से घटना पर विरोध जता रही है। इस पूरे वाकये को टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने आंखों देखा हाल की तरह बताया है। महुआ मोइत्रा ने कहा कि भाजपा सांसदों ने कांग्रेस अध्यक्ष को भेड़ियों के झुंड की तरह घेर रखा था।

टीएमसी सांसद ने कहा कि, 'सदन से बाहर आते ही भाजपा के सांसद सोनिया गांधी पर टूट पड़े और चिल्लान लगे। ऐसे में 75 साल की एक मास्क लगाए हुए महिला भला एक से कैसे भिड़ सकती हैं। एनसीपी की सुप्रिया सुले और मैं बाहर निकले। वहां कांग्रेस का कोई सांसद मौजूद नहीं था। मैंने देखा कि सोनिया गांधी रमा देवी की तरफ जा रही हैं। वह पूरे समय मास्क पहने हुई थीं। वह रमा देवी से कुछ बात करने लगीं। स्मृति ईरानी रमा देवी के पीछे खड़ी थीं। वो उंगली उठाकर सोनिया गांधी से कुछ कहने लगीं।'

यह भी पढ़ें: यू डोंट टॉक टू मी, सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी को लताड़ा, राष्ट्रपत्नी विवाद पर चौधरी बोले- बांग्लाभाषी हूं, चूक हुई

महुआ मोइत्रा ने आगे बताया कि जब सोनिया गांधी बीजेपी सांसदों से घिरी थीं तभी अधीर रंजन भी आ गए और उन्होंने सत्ताधारी दल के सांसदों से कहा कि जो भी बात करनी है उनसे करें। मोइत्रा ने कहा, 'जिस तरह से भाजपा के सांसद चिल्ला रहे थे, पहले कभी ऐसा नहीं देखा। मैं उन्हें बाहर ले जाना चाहती थी लेकिन वह कह रही थीं कि मैं डरती नहीं हूं। प्रेस में भाजपा के झूठे बयान पढ़कर व्यथित हूं।'

मामले पर कांग्रेस ने कहा है कि लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत बीजेपी के कई सांसदों एवं मंत्रियों ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार किया तथा ऐसी स्थिति पैदा कर दी गई थी कि कांग्रेस अध्यक्ष को चोट भी पहुंच सकती थी। मुख्य विपक्षी दल ने कहा कि अपनी मंत्री और नेताओं के इस व्यवहार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस ने इस पूरे घटनाक्रम की शिकायत स्पीकर ओम बिड़ला से भी की है। स्पीकर को लिखे पत्र में कांग्रेस ने घटना को असभ्य बताते हुए लिखा है कि जैसे ही दोपहर बारह बजे लोक सभा स्थगित हुई, बीजेपी के सांसद यूपीए अध्यक्ष और लोक सभा सासंद सोनिया गांधी को घेरकर नारे लगाने लगे। इस दौरान सोनिया गांधी पर मौखिक हमला करते हुए शारीरिक चोट पहुंचाने की स्थिति भी पैदा हो गई। तब कांग्रेस और कुछ अन्य पार्टियों की महिला सांसदों ने श्रीमती सोनिया गांधी को वहां से बाहर निकाला। 

कांग्रेस पार्टी ने स्पीकर ओम बिड़ला से पूरी घटना पर प्रिविलेज कमेटी में जांच कराने और अमर्यादित आचरण करनेवाले सांसदों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई करने की अपील की है।