जबरण फोटोग्राफर लेकर वार्ड में घुसे स्वास्थ्य मंत्री, मंडाविया के PR स्टंट पर भड़की मनमोहन सिंह की बेटी

मेरे माता-पिता मुश्किल हालात से गुजर रहे हैं, वो कोई चिड़ियाघर के जानवर नहीं हैं- मनमोहन सिंह की बेटी, सुरजेवाला बोले- मंडाविया को शर्म आनी चाहिए

Updated: Oct 16, 2021, 12:01 PM IST

जबरण फोटोग्राफर लेकर वार्ड में घुसे स्वास्थ्य मंत्री, मंडाविया के PR स्टंट पर भड़की मनमोहन सिंह की बेटी
Photo Courtesy: HT

नई दिल्ली। देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं। सिंह की तबियत बिगड़ने के बाद देशभर में उनके स्वस्थ होने की दुआएं हो रही है। इसी बीच मोदी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री की अजीबोगरीब हरकतों ने लोगों को हैरान कर दिया है। दरअसल स्वास्थ्य मंत्री एक फोटोग्राफर लेकर बीमारी से जूझ रहे सिंह को देखने गए थे। इस घटना पर आपत्ति जताते हुए पूर्व पीएम की बेटी दमन सिंह ने कहा है कि मेरे पिता कोई चिड़ियाघर के जानवर नहीं हैं।

मनमोहन सिंह की बेटी दामिनी सिंह ने द प्रिंट को बताया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया मेरी मां के इच्छा के विपरीत जबरण वार्ड में फोटोग्राफर लेकर घुसे थे। दामिनी के मुताबिक उनकी मां ने फोटोग्राफर को बाहर जाने के लिए भी कहा लेकिन वे नहीं माने। दमन सिंह ने कहा कि, 'मेरी मां बहुत नाराज हैं। मेरे माता-पिता बेहद कठिन परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं। वे बुजुर्ग व्यक्ति हैं, किसी चिड़ियाघर के जानवर नहीं हैं।'

यह भी पढ़ें: जब धरती पर अधर्म और पाप बढ़ते हैं तो संतो को आगे आना पड़ता है, BJP पापी है: कंप्यूटर बाबा

इस पूरे घटना को कांग्रेस ने शर्मनाक करार देते हुए कहा है कि मंडाविया को माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, 'बीजेपी लिए हर चीज़ ‘फ़ोटो ऑप’ (फोटो खिंचाने का अवसर) है। शर्म आनी चाहिए देश के स्वास्थ्य मंत्री को, जिन्होंने एम्स में भर्ती पिता तुल्य पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाक़ात को भी PR स्टंट बनाया। यह हर नैतिक मूल्य का उलंघन है। पूर्व प्रधानमंत्री की निजता का हनन है साथ ही स्थापित परम्पराओं का भी अपमान है। उन्हें माफ़ी मांगनी चाहिए।'

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी इस घटनाक्रम पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि 'फ़ोटो ऑप बीजेपी का हॉलमार्क बन गया है।' दरअसल, सोमवार शाम को मनमोहन सिंह की अचानक तबियय बिगड़ने के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। सिंह की तबियत बिगड़ने के बाद देशभर के लोग उनकी सलामती की प्रार्थना कर रहे थे। इसके अगले दिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया शिष्टाचार दिखाने के लिए ऐम्स में सिंह को देखने पहुंचे। 

हैरान करने वाली बात ये है कि 89 वर्षीय सिंह जब बीमारियों से जूझ रहे थे, तब भी मंडाविया ने उनके कक्ष में फोटोग्राफर ले जाना नहीं भुला। ताकि वे अपनी फोटो शेयर कर वाहवाही बटोर सकें। जबकि मनमोहन सिंह की पत्नी ने उन्हें मना भी किया, लेकिन वे जबरण फोटोशूट करते रहे। इसके बाद उन्होंने जब वार्ड के भीतर की तस्वीरें साझा की तो देशवासियों में गुस्सा फुट पड़ा। चूंकि, तस्वीरों में मनमोहन सिंह बेहद अस्वस्थ दिख रहे थे और वे बिस्तर पर लेटे हुए थे। 

यह भी पढ़ें: उपचुनाव से पहले BJP नेता का ऑडियो वायरल, बोले- नाम खराब हो रहा तो फांसी लगाकर मरूं क्या

भारत को आर्थिक मोर्चे पर मजबूत करने वाले प्रधानमंत्री को दुर्बल हाल में देखना देशवासियों के लिए गहरा आघात जैसा था। हजारों सोशल मीडिया यूजर्स ने मंडाविया से गुजारिश भी करते रहे कि वे इन तस्वीरों को डिलीट करें, लेकिन वे नहीं माने। इस घटना को लेकर उनकी चौतरफा फजीहत हो रही है। बता दें कि मनमोहन सिंह को एम्स के कार्डियो-न्यूरो केंद्र के निजी वार्ड में भर्ती कराया गया है। यहां डॉक्टर नीतीश नाइक के नेतृत्व में ह्रदय रोग विशेषज्ञों की टीम उनकी निगरानी कर रही है।