मोदी के खिलाफ कार्टून बनानेवाले मंजुल को नेटवर्क18 ने किया सस्पेंड, राहुल ने कहा, वह सबसे डरता है

मंजुल ने हाल ही में प्रधानमंत्री की आलोचना करते हुए एक कार्टून बनाया था, जिसके बाद ट्विटर ने उनके कार्टून को भारतीय कानूनों का उल्लंघन करार दिया था, अब नेटवर्क 18 ने उन्हें बिना किसी नोटिस के ससपेंड कर दिया है

Updated: Jun 11, 2021, 03:00 PM IST

मोदी के खिलाफ कार्टून बनानेवाले मंजुल को नेटवर्क18 ने किया सस्पेंड, राहुल ने कहा, वह सबसे डरता है
Photo Courtesy: Scroll.in

​​​​​​नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपने कार्टून के जरिए आलोचना करने वाले मशहूर कार्टूनिस्ट मंजुल को नेटवर्क 18 ने सस्पेंड कर दिया है। मंजुल को बिना किसी पूर्व सूचना के ही नेटवर्क 18 ने निलंबित कर दिया है। इस पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बिना पीएम मोदी का नाम लिए निशाना साधा है। राहुल गांधी ने कहा है कि वह सबसे डरता है। 

राहुल गांधी ने कहा है कि सच से, सवालों से और कार्टून से, उसे सबसे डर लगता है। राहुल ने ट्वीट किया, 'सच से

सवालों से

कार्टून से- 

वह सब से डरता है।' 

दरअसल हाल में जब कोरोना की दूसरी लहर कमज़ोर पड़ी तब प्रधानमंत्री मोदी ने देश के नाम संबोधन देने शुरू कर दिए। इस पर मशहूर कार्टूनिस्ट मंजुल ने कोरोना की वेव और प्रधानमंत्री मोदी के कैमरा प्रेम से जुड़ा कार्टून बनाया। मंजुल ने अपने कार्टून से यह दर्शाने की कोशिश की थी कि जब तक कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी रहा, तब तक मोदी कैमरा पर नहीं आए। लेकिन जैसे ही कोरोना की दूसरी लहर कमज़ोर पड़ी, वैसे ही मोदी कैमरा के सामने आ गए। 

मंजुल के इस कार्टून के बाद ट्विटर ने मंजुल को नोटिस भेजा था। जिसमें ट्विटर ने मंजुल से कहा था कि उनका कंटेंट भारतीय कानूनों का उल्लंघन करता है। मंजुल ने ट्विटर के मेल को अपने ट्विटर हैंडल पर साझा करते हुए कहा था कि जय हो मोदी सरकार की। मंजुल ने अपने ट्वीट में कहा था कि शुक्र है मोदी सरकार ने ट्विटर को ये नहीं लिखा कि ये ट्विटर हैंडल बन्द करो। ये कार्टूनिस्ट अधर्मी है, नास्तिक है। मोदी जी को भगवान नहीं मानता।वैसे अगर सरकार बता देती कि दिक़्क़त किस ट्वीट से तो अच्छा रहता। दोबारा वैसा ही काम किया जा सकता था। और लोगों को भी सुविधा हो जाती। 

मंजुल ने 29 अप्रैल को एक और कार्टून प्रधानमंत्री की आलोचना करते हुए बनाया था, जिसमें उन्होंने यह दर्शाया था कि प्रधानमंत्री मोदी कोरोना से लड़ने के बजाय सोशल मीडिया कंपनियों से लड़ रहे हैं। 

पहले ट्विटर की ओर से मंजुल के कंटेंट पर आपत्ति दर्ज की गई अब नेटवर्क 18 ने उन्हें बिना कोई कारण बताए सस्पेंड कर दिया। मंजुल पिछले 6 वर्षों से नेटवर्क 18 से जुड़े हुए थे और कार्टून बना रहे थे। नेटवर्क 18 पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिकाना हक है, जिसके सर्वे सर्वा उद्योगपति मुकेश अंबानी हैं।