नीतीश कैबिनेट का विस्तार एक हफ़्ते बाद, और बढ़ेगा बीजेपी का दबदबा

29 दिसंबर को मंत्रिमंडल विस्तार किए जाने की ख़बर, बीजेपी के मंत्रियों का अनुपात और बढ़ने के आसार

Updated: Nov 22, 2020, 07:30 PM IST

नीतीश कैबिनेट का विस्तार एक हफ़्ते बाद, और बढ़ेगा बीजेपी का दबदबा
Photo Courtesy: The Quint

पटना। बिहार में मंत्रिमंडल गठन के बाद से ही विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी के इस्तीफे के बाद अशोक चौधरी और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद अब विपक्ष के निशाने पर हैं। अब इंतज़ार इस बात का है कि नीतीश सरकार में मंत्रिमंडल का गठन कब होगा ? खबर है कि 29 नवंबर को नीतीश कुमार अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं।

हिंदी के एक प्रमुख अखबार दैनिक भास्कर ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया है कि नीतीश कुमार  हफ्तेभर में पहला कैबिनेट विस्तार करेंगे। यह 29 तारीख को हो सकता है। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद मंत्रिमंडल की तस्वीर कैसी होगी ? भास्कर ने इस बात का खुलासा भी अपनी रिपोर्ट में किया है। रिपोर्ट के मुताबिक गठबंधन में सबसे ज़्यादा सीटें जीतकर आने वाली बीजेपी का बढ़ा हुआ कद स्पष्ट तौर पर दिखेगा अभी नीतीश सरकार में भाजपा कोटे से 7 और जदयू कोटे से 5 मंत्री हैं। इनमें से भी जदयू कोटे से मेवालाल चौधरी इस्तीफा दे चुके हैं यानी नीतीश समेत 5 बचे हैं। 

पिछली सरकार में भाजपा के कोटे से डिप्टी सीएम समेत 13 मंत्री थे। सीएम को मिलाकर जदयू कोटे से 22 मंत्री थे। अबकी बार विस्तार में भाजपा के कोटे में मंत्रियों की संख्या 19 तक हो सकती है और जदयू के कोटे से 16।16 नवंबर को नीतीश कुमार ने एनडीए के घटक दलों के नेताओं के साथ शपथ ली थी, लेकिन उस समय सांकेतिक रूप से कुछ ही नेताओं की शपथ हो पाई थी। इसी वजह से एक-एक मंत्री को फिलहाल पांच-पांच विभागों की जिम्मेदारी दी गई है।