सोनिया गांधी को पत्र लिखने की बजाए न्यूयॉर्क टाइम्स का कॉलम पढें जेपी नड्डा, पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम का पलटवार

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि महामारी के समय कांग्रेस नेता नकारात्मकता फैला रहे हैं

Updated: May 11, 2021, 05:16 PM IST

सोनिया गांधी को पत्र लिखने की बजाए न्यूयॉर्क टाइम्स का कॉलम पढें जेपी नड्डा, पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम का पलटवार

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। चार पन्नों के इस शिकायती पत्र में बीजेपी नेता ने कांग्रेस पर नकारात्मक राजनीति करने के अनेक आरोप लगाए हैं। नड्डा के इस पत्र पर देश के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने करारा पलटवार किया है। चिदंबरम ने इस पत्र को आधारहीन करार देते हुए नड्डा को सुझाव दिया है कि वे न्यूयॉर्क टाइम्स का कॉलम पढ़ें।

पी चिदंबरम ने ट्वीट किया, 'कांग्रेस अध्यक्ष को एक आधारहीन पत्र लिखने की बजाय, भाजपा अध्यक्ष श्री नड्डा 6 मई, 2021 का न्यूयॉर्क टाइम्स का अतिथि कॉलम पढ़ सकते हैं। लेखक कांग्रेस के सदस्य नहीं हैं। उनके नाम श्री नड्डा को याद होंगे: डॉ. अभिजीत बनर्जी और डॉ. एस्थर डुफ्लो, नोबेल पुरस्कार विजेता।' इस कॉलम में अभिजीत बनर्जी और एस्थर डुफ्लो ने लिखा है कि क्यों भारत की समस्या अकेले भारत की नहीं है- बल्कि दुनिया को इस पर चिंता करने की जरूरत है। उन्होंने यह भी लिखा है कि कैसे भारत सरकार ने पहली बार चार घंटे की नोटिस पर और इस बार लंबी लापरवाही के बाद लॉकडाउन लगाया। कोरोना की दूसरी लहर में भारत सरकार को कुछ सूझ नहीं रहा है कि क्या करें। यही नहीं भारत स रकार समस्या की गंभारता को समझने के लिए भी तैयार नहीं है। 

कांग्रेस को इस पर टीएमसी का भी समर्थन मिला है। टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने लिखा कि "अच्छा होता जेपी नड्डा जी प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई को और मजबूत करने का ज्ञान देते"

इससे पहले जेपी नड्डा ने सोनिया को चार पन्ने का शिकायती पत्र लिखा है। नड्डा ने कांग्रेस नेताओं पर नकारात्मकता फैलाने का आरोप लगाया है.. और कहा है कि वे प्रधानमंत्री मोदी की कोरोना से जारी लड़ाई को कमज़ोर करने का काम कर रहे हैं। नड्डा ने लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले साल मार्च से ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जुटे हुए हैं। वे अबतक कई बैठकों की अध्यक्षता कर चुके हैं और लगातार सभी मुख्यमंत्रियों के संपर्क में हैं। मैं काफी दुखी होकर यह पत्र लिख रहा हूं, क्योंकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सीएम कोरोना महामारी से लड़ाई के बारे में गलत जानकारी दे रहे हैं और भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।'

यह भी पढ़ें: BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, बोले कांग्रेस के कुछ लोग अच्छा काम कर रहे हैं

इतना ही नहीं नड्डा ने कांग्रेस नेताओं पर महामारी के दौरान सुपर स्प्रेडर रैलियों को संबोधित करने तक का आरोप लगाया है जो अबतक अमूमन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगते थे। नड्डा ने लिखा है कि, 'जब देशभर में कोरोना के मामले बढ़ रहे थे तो आपके नेता रैलयां कर रहे थे। नड्डा ने हैरतअंगेज तरीके से देश की जर्जर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए कांग्रेस के पूर्व सरकारों को जिम्मेदार ठहरा दिया है। नड्डा ने लिखा कि, 'अब कांग्रेस में नया चलन है। सारी जिम्मेदारी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर डाल दो। कांग्रेस नेताओं की हरकतों के वजह से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश कमजोर पड़ रहा है।

गौरतलब है कि देश में कोरोना महामारी से प्रतिदिन स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से हजारों लोगों की असमय मौत हो रही है। इसपर विपक्ष द्वारा सवाल किए जाने पर बीजेपी नेताओं की ओर से जवाब आता है कि सकारात्मक बातें करें। प्रधानमंत्री मोदी भी अपने मन की बात में सकारात्मक रहने और सकारात्मक बातें करने की अपील कर चुके हैं। बीजेपी शासित राज्य सरकारें बाकायदा मीडिया को चिट्ठी लिखकर सकारात्मक खबरें छापने की अपील कर रहे हैं। अब सवाल यह है कि जब देश में हर रोज हजारों लोग कुव्यवस्थाओं की बलि चढ़ रहे हैं, तब स्वास्थ्य सुविधाओं को बहाल करने की जरूरत है या सकारात्मक बातें करने की?