फाइजर की कोरोना वैक्सीन लगाने के 16 दिन बाद डॉक्टर की मौत, पत्नी ने टीके के साइड इफेक्ट से मौत का किया दावा

फाइजर की वैक्सीन की पहली खुराक लेने पर ही हो गई मौत, कंपनी कर रही है जांच, बीते 18 दिसंबर को दी गई थी पहली खुराक

Updated: Jan 08, 2021, 03:55 PM IST

फाइजर की कोरोना वैक्सीन लगाने के 16 दिन बाद डॉक्टर की मौत, पत्नी ने टीके के साइड इफेक्ट से मौत का किया दावा
Photo Courtesy: Hindustan

वॉशिंगटन। दुनियाभर के देश आनन-फानन में कोरोना वैक्सीन के टीके को आपात इस्तेमाल की मंजूरी देने में जुटे हैं। एक तरह से दुनिया के देशों में वैक्सीन की मंजूरी देने की होड़ लगी है। भारत ने भी दो टीकों केे इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है। इसी बीच अब कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स के गंभीर प्रमाण भी सामने आने लगे हैं। कोरोना वैक्सीन लगाने के 16 दिन बाद एक डॉक्टर की मौत हो गई है।

मामला अमेरिका के साउथ फ्लॉरिडा का है जहां बीते 3 जनवरी को 56 वर्ष के एक डॉक्टर की मौत हो गई। डॉक्टर की पत्नी का दावा है कि उनकी मौत फाइजर की कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक लेने की वजह से हुई है। डॉक्टर की पत्नी हेदी नेकलमेन ने कहा कि टीका लेने के कुछ दिनों बाद ही डॉक्टर माइकल में अजीब लक्षण दिखने लगे थे। उनके हाथ और पैरों में छोटे-छोटे धब्बे भी हो गए थे। इसके बाद उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया जहां वह एक दुर्लभ बीमारी का शिकार पाए गए।

हालांकि, अबतक ऐसे कोई साइंटिफिक या मेडिकल सुबूत नहीं मिले हैं जिससे यह साबित हो कि माइकल की मौत का कारण कोरोना वैक्सीन है। टीकाकरण और मौत के दौरान कम अंतराल होने की वजह से सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल प्रिवेंशन की टीम मामले की जांच में जुट गई है। वहीं वैक्सीन मेकर कंपनी फाइजर का दावा है कि डॉक्टर के मौत का वैक्सीन से कोई लेना देना नहीं है।

लगातार सामने आ रहे हैं साइड इफेक्ट्स

गौरतलब है कि यह पहला मामला नहीं है जब वैक्सीन लगाने के बाद किसी स्वस्थ इंसान की मौत हुई हो। दुनियाभर में लगातार वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स के ऐसे मामले सामने आ रहे हैं। इसके पहले पुर्तगाल में भी फाइजर का टीका लगाने के बाद एक स्वास्थ्यकर्मी की मौत हो गई थी। खास बात यह है कि 41 वर्षीय हेल्थ वर्कर सोनिया असेवेडो की मौत वैक्सीन लेने के महज 48 घंटे बाद ही हो गई। इसके अलावा फिनलैंड और बुल्गारिया में भी फाइजर वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स के मामले सामने आए हैं।