वृंदावन में प्रज्ञा ठाकुर की गुंडागर्दी, धर्माचार्य की पत्नी पर किया हमला, सांसद का PSO और ड्राइवर गिरफ्तार

भागवताचार्य नागेंद्र महाराज की पत्नी मीनाक्षी ने बताया कि साध्वी प्रज्ञा गुंडों को लेकर आई थी जो बदनीयती के साथ उनके घर में घुसना चाह रहे थे, उनमें से एक व्यक्ति बंदूक ताने हुए था और प्रज्ञा उन्हें जान से मारने की धमकी दे रही थीं।

Updated: Nov 15, 2022, 10:15 AM IST

वृंदावन में प्रज्ञा ठाकुर की गुंडागर्दी, धर्माचार्य की पत्नी पर किया हमला, सांसद का PSO और ड्राइवर गिरफ्तार

वृंदावन। भूरीवाला आश्रम में स्वामित्व को लेकर चल रहे विवाद में अब भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर की एंट्री हो गई है। आश्रम पर कब्जे को लेकर साध्वी प्रज्ञा हथियारबंद लोगों के साथ वृंदावन पहुंची हैं। सोमवार को भोपाल सांसद ने वहां धर्माचार्य की पत्नी के साथ बदसलूकी भी की। पुलिस ने इस मामले में प्रज्ञा ठाकुर के पीएसओ, ड्राइवर और एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं सांसद प्रज्ञा ने स्थानीय पुलिस पर षड्यंत्र करने का आरोप लगाया है।

दरअसल, वृंदावन के मोतीझील इलाके में भागवताचार्य नागेंद्र महाराज के निवास के समीप भूरी वाला आश्रम है। आश्रम के स्वामित्व को लेकर पिछले काफी समय से दो पक्षों में विवाद चल रहा है। बीते 7 अक्टूबर को आश्रम के स्वामित्व को लेकर हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें स्वामी दर्शनानंद सहित 9 लोग घायल हो गए थे। सोमवार को इस विवाद में अचानक साध्वी प्रज्ञा की एंट्री हो गई।

यह भी पढ़ें: 74वें दिन मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी भारत जोड़ो यात्रा, 27 नवंबर को महू जाएंगे राहुल गांधी, यहां देखें पूरा शेड्यूल

भागवताचार्य नागेंद्र महाराज की पत्नी मीनाक्षी दत्त ने बताया कि रविवार रात करीब 8:30 बजे एक गाड़ी में सवार प्रज्ञा ठाकुर के साथ आए 4-5 लोग उनके आवास पर आकर गालीगलौज कर रहे थे। उनके साथ भूरीवाला आश्रम का एक संत भी था। इसके अगले दिन सोमवार को प्रज्ञा ठाकुर के साथ आए हथियारबंद गुंडों ने उनके घर पर हमला कर दिया। 

मीनाक्षी के मुताबिक भोपाल सांसद का गनर बंदूक ताने हुए था और जान से मारने की धमकी दे रहा था। अन्य लोग भी अभद्रता कर रहे थे और बदनीयती के साथ घर में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान पुलिसकर्मी वहां आ गए जिन्होंने मीनाक्षी को बचाया। मथुरा पुलिस ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर के PSO मनीष भट्ट, ड्राइवर द्र्वेश के अलावा एक अन्य व्यक्ति को हिरासत में ले लिया। पुलिस हिरासत में लिए गए तीनों लोगों को कोतवाली ले गई। नागेंद्र महाराज का कहना है कि पकड़े गए लोगों से हथियार भी बरामद हुए हैं।

वहीं  प्रज्ञा ठाकुर का आरोप है यह सब पुलिस की मिलीभगत से हो रहा है। भाजपा सांसद ने धर्माचार्य की पत्नी पर गाली-गलौज का आरोप लगाया है। सांसद का आरोप है कि धर्माचार्य आश्रम पर कब्जा करना चाहते हैं। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि वे भूरी वाला आश्रम में संतों से मिलने आई थीं। इसी दौरान भागवताचार्य की पत्नी गालीगलौज करने लगी। दूसरे दिन भी स्थानीय पुलिस की मौजूदगी में भागवताचार्य की पत्नी उनका नाम लेकर गाली देने लगी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जब उनके सुरक्षा गार्डों ने उसे गाली देने से रोकने का प्रयास किया तो पुलिस ने सुरक्षा गार्डों को हिरासत में ले लिया। 

प्रज्ञा ठाकुर ने आरोप लगाया कि मथुरा पुलिस उनके खिलाफ षड्यंत्र रच रही है। यहां का SHO पूर्वाग्रह से ग्रसित है। उन्होंने मथुरा एसपी, जिला कलेक्टर, और राज्य के डीजीपी से भी इस मामले में बात की है। यह भी कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी पुलिस की कार्यप्रणाली का शिकायत करेंगे।