पूरे देश में बम ब्लास्ट कराना चाहती थी RSS, संघ प्रचारक रहे यशवंत शिंदे का बड़ा खुलासा

शिंदे का दावा है कि आरएसएस ने स्वयं सेवकों को बम बनाने की ट्रेनिंग दी थी, साल 2004 में बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए आरएसएस ने देशभर में बम ब्लास्ट करने की साजिश रची थी।

Updated: Sep 02, 2022, 12:02 PM IST

पूरे देश में बम ब्लास्ट कराना चाहती थी RSS, संघ प्रचारक रहे यशवंत शिंदे का बड़ा खुलासा

मुंबई के संघ प्रचारक रहे यशवंत शिंदे ने दावा किया है कि 2006 के पटबंधरे नगर बम विस्फोट RSS ने करवाए थे। यशवंत शिंदे ने नांदेड़ की एक अदालत में हलफनामा दाखिल कर कहा है कि वह इस मामले में गवाह बनने के लिए तैयार है। शिंदे ने इस हलफनामे में कहा कि उनके पास धमाके से जुड़ी हुई सारी जानकारी है। उन्होंने यह भी खुलासा किया है कि बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए आरएसएस ने देशभर में बम ब्लास्ट करने की साजिश रची थी।

रिपोर्ट्स के अनुसार सात पन्नों के इस हलफनामे में शिंदे ने आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद के कई कार्यकर्ताओं के नाम बताए हैं और बम विस्फोट की योजना बनाने और उसे अंजाम देने के कई स्तरों पर उनकी संलिप्तता का दावा किया है। उनका दावा है कि उन्हें जुलाई 2003 में दक्षिण मुंबई के खेतवाड़ी इलाके में गोल देउल में एक बैठक में बुलाया गया था।

यह भी पढ़ें: रोजगार देने में कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ सबसे अव्वल, बीजेपी शासित हरियाणा फिसड्डी: CMIE रिपोर्ट

शिंदे के मुताबिक वे निश्चित समय पर बैठक के लिए गए जहां सिर्फ दो व्यक्ति थे। वे आरएसएस के सदस्य थे और मिलिंद परांडे के करीबी सहयोगी थे, जो VHP महाराष्ट्र प्रांत के नेता थे। इन दो व्यक्तियों ने बताया किया कि जल्द ही बम बनाने का एक प्रशिक्षण शिविर  आयोजित होने वाला है। शिंदे के मुताबिक, 'उसके बाद पूरे देश में बम विस्फोट करने की योजना थी। उन्होंने प्रस्ताव रखा कि मुझे देश के विभिन्न हिस्सों में अधिक से अधिक बम विस्फोट करने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। मैं चौंक गया लेकिन अपने चेहरे पर यह नहीं दिखाया।'

शिंदे ने इस संबंध में एक वीडियो स्टेटमेंट भी जारी किया है। इसमें उन्होंने बताया कि, '2003 में उसे पुणे के सिंहगढ़ की तलहटी में एक जगह बम बनाने की ट्रेनिंग दी गई। विश्व हिंदू परिषद के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष मिलिंद परांडे, राकेश धवाड़े और मिशुन चक्रवर्ती उर्फ रविदेव ने बम बनाने की ट्रेनिंग दी। मैं नांदेड़ बम विस्फोट में मारे गए हिमांशु पांसे और अन्य 20 लोगों के साथ इस ट्रेनिंग में शामिल हुआ था।'

यह भी पढ़ें: अमेरिका में PM मोदी और अडानी के खिलाफ केस दर्ज, भ्रष्टाचार और जासूसी का आरोप, समन जारी

शिंदे ने वीडियो में बताया कि वह नांदेड़ में कई बार हिमांशु पांसे से मिलने गया और उनसे कहा कि वह ऐसा ना करें। साल 2006 में हिमांशु और एक अन्य की बम बनाते हुए नांदेड़ के पटबंधरे नगर में विस्फोट से मौत हो गई। इसको लेकर पहले कहा गया कि पटाखा विस्फोट था लेकिन बाद में खुलासा हुआ कि ये विस्फोट बम बनाते समय हुआ था। 

इस खुलासे के बाद कांग्रेस आक्रामक हो गई है। कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा कि, 'राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रहे यशवंत शिंदे ने हलफ़नामा दर्ज कर संघ के राष्ट्र विरोधी कारमानों की ख़ौफ़नाक जानकारी उजागर की है। कैसे पूरे देश में बम विस्फोट करने का षड़यंत्र रचा गया, कौन कौन लोग उसमें शामिल थे, इससे बड़ी ब्रेकिंग न्यूज़ और क्या हो सकती है।'