उन्नाव में अपना प्रत्याशी नहीं खड़ा करेगी सपा, कांग्रेस ने रेप पीड़िता की मां को बनाया है उम्मीदवार

उन्नाव में समाजवादी पार्टी ने चुनाव न लड़ने का फैसला किया है, हालांकि इसका आधिकारीक तौर पर एलान होना बाकी है

Updated: Jan 14, 2022, 05:54 PM IST

उन्नाव में अपना प्रत्याशी नहीं खड़ा करेगी सपा, कांग्रेस ने रेप पीड़िता की मां को बनाया है उम्मीदवार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी उन्नाव में अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं करेगी। हालांकि समाजवादी पार्टी के इस निर्णय की औपचारिक घोषणा होना बाकी है। लेकिन इस बात की पूरी संभावना है कि समाजवादी पार्टी जल्द ही अपने इस फैसले की घोषणा कर सकती है। 

उन्नाव से कांग्रेस पार्टी ने रेप पीड़िता की मां आशा देवी को टिकट दिया है। ऐसे में समाजवादी पार्टी अपना उम्मीदवार चुनावी मैदान में न उतार कर रेप पीड़िता की मां के विधानसभा पहुँचने की राह में रोड़ा नहीं बनना चाहती है। वहीं बसपा को लेकर भी यह चर्चा है कि वह भी इस सीट पर अपना उम्मीदवार न खड़ा करने के पक्ष में है।  

उत्तर प्रदेश में सियासी घमासान जारी है। चुनावी बिगुल बजते ही सियासी दांव पेंच का दौर भी शुरु हो गया है। बीजेपी के कई नेताओं ने आज स्वामी प्रसाद मौर्य के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। इस दौरान सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें ः योगी सरकार के दस और मंत्री देंगे इस्तीफा, संजय राउत का बड़ा दावा

सदस्यता कार्यक्रम के दौरान स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर एक के बाद एक हमला बोला। स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि आज बीजेपी का अंत लिखने जा रहा है। पूर्व मंत्री ने कहा कि उनसे आज कल यह सवाल ज़रूर पूछा जा रहा है कि जब बीजेपी पिछड़ा विरोधी थी तब वे पाँच सालों तक बीजेपी में क्यों बने रहे। पूर्व मंत्री ने कहा कि बीजेपी ने पिछड़ों और दलितों के साथ पिछले विधानसभा चुनाव में धोखा किया था। और इसी धोखे के कारण वह सरकार बनाने में कामयाब रही। सरकार में रहते हुए भी बीजेपी ने सिर्फ पिछड़ों और दलितों को ठगने का ही काम किया।

यह भी पढ़ें ः वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान का निधन, पत्रकारिता जगत में शोक की लहर

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि चुनाव जीतने के बाद यह तय था कि केशव या स्वामी में से कोई एक नेता राज्य का मुख्यमंत्री बनेगा। लेकिन इसके बजाय पहले गाज़ीपुर के एक नेता को मुख्यमंत्री बनाने की कोशिश की गयी। और बाद में गोरखपुर के एक नेता को मुख्यमंत्री बना दिया गया।

कार्यक्रम के दौरान अखिलेश यादव ने भी बीजेपी पर एक के बाद एक हमले बोले। सपा प्रमुख ने सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर दौरे पर तंज कसते हुए कहा कि सीएम आज क्यों गोरखपुर गये हैं। उन्हें तो 11 मार्च को गोरखपुर वैसे भी जाना है।