संसद की स्थाई समिति के समक्ष पेश हुए ट्विटर इंडिया के अधिकारी, समिति ने कहा भारतीय क़ानून का करें पालन

नए आईटी नियमों के संबंध में चर्चा करने के लिए संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए ट्विटर इंडिया के दो अधिकारी, इसमें ट्विटर इंडिया की पब्लिक पॉलिसी मैनेजर और लीगल कॉउंसल शामिल हुईं

Updated: Jun 18, 2021, 10:27 PM IST

संसद की स्थाई समिति के समक्ष पेश हुए ट्विटर इंडिया के अधिकारी, समिति ने कहा भारतीय क़ानून का करें पालन

नई दिल्ली। केंद्र सरकार और सोशल मीडिया कम्पनी के बीच जारी खींचतान के बीच आज संसद की स्थाई समिति के समक्ष ट्विटर इंडिया के दो अधिकारी कम्पनी का पक्ष रखने पहुंचे। ट्विटर ने अपना पक्ष रखने के लिए अपनी पब्लिक पॉलिसी मैनेजर शगुफ्ता कामरान और लीगल कॉउंसल आयुषी कपूर शामिल हुईं। दोनों ही अधिकारियों ने मौजूदा विवाद पर ट्विटर का पक्ष रखा। 

यह भी पढ़ें : नए आईटी नियमों को लेकर खींचतान के बीच संसद की स्थाई समिति ने ट्विटर को भेजा समन, 18 जून को समिति के सामने अपना पक्ष रखेगा ट्विटर

दरअसल कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली समिति ने ट्विटर को समन भेजा था। लिहाज़ा आज संसदीय समिति ने ट्विटर इंडिया के अधिकारियों के साथ नए आईटी नियमों के अनुपालन और मैनिपुलटेड मीडिया वाले विवाद के संबंध में विस्तृत चर्चा की। इसके साथ ही समिति और ट्विटर के अधिकारियों के बीच डिजिटल प्लेटफार्म पर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी चर्चा की गई।  

यह भी पढ़ें :  बुज़ुर्ग पिटाई मामले में ट्विटर इंडिया के एमडी को गाज़ियाबाद पुलिस ने भेजा नोटिस, एक हफ्ते में पुलिस थाने आने के लिए कहा

नए आईटी नियमों को लेकर केंद्र के साथ जारी खींचतान के साथ ही ट्विटर इन दिनों एक अन्य विवाद में भी फंसा हुआ है। गाज़ियाबाद के मुस्लिम बुज़ुर्ग पिटाई मामले में ट्विटर के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप में गाज़ियाबाद में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही ट्विटर इंडिया के हेड महेश माहेश्वरी के खिलाफ भी दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है।