वेश बदलकर गुजरात में घुसना चाहते हैं अर्बन नक्सल, विदेशी ताकतों से मिले हुए हैं: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक बार फिर गुजरात में अर्बन नक्सली घुसने की कोशिश कर रहे हैं। ये हमारे भोले-भाले युवाओं को भरमा रहे हैं।

Updated: Oct 10, 2022, 04:50 PM IST

वेश बदलकर गुजरात में घुसना चाहते हैं अर्बन नक्सल, विदेशी ताकतों से मिले हुए हैं: पीएम मोदी

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात दौरे के दूसरे दिन भरुच पहुंचे। भरुच के आमोद में उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए लोगों को अर्बन नक्सल का डर दिखाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा नए रंग रूप में वेश बदलकर नक्सलवादी गुजरात में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि ये अर्बन नक्सल विदेशी ताकतों से मिले हुए हैं और युवाओं को भ्रमित कर रहे हैं। हालांकि, उन्होंने किसी व्यक्ति विशेष का नाम नहीं लिया।

पीएम मोदी ने लोगों को चेताते हुए कहा कि देश के कई राज्यों में नक्सलवाद ने आदिवासी लोगों को बहुत बुरा किया है, लेकिन गुजरात में कभी नक्सली नहीं घुस पाए। पीएम मोदी ने कहा एक बार फिर से नए कपड़ों में ये अर्बन नक्सल गुजरात में घुसना चाहते हैं। पीएम ने सभा में मौजूद लोगों से कहा कि ये युवाओं को भ्रमित कर रहे हैं, पहले भी आप ने मेरी बात मानी थी। जिसके चलते महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ के नक्सलवाद होते हुए भी गुजरात इससे अछूता रहा था। पीएम मोदी ने कहा इसके लिए मैं आपको प्रणाम करता हूं।

यह भी पढ़ें: संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए उन्होंने हमेशा कांग्रेस का साथ दिया: मुलायम सिंह के निधन पर बोलीं सोनिया गांधी

पीएम मोदी ने आगे कहा कि हमें अपने बच्चों को अर्बन नक्सलियों से सावधान करना चाहिए, जिन्होंने देश को तबाह करने का बीड़ा उठाया है। वे विदेशी ताकतों के एजेंट हैं। गुजरात उनके सामने सिर नहीं झुकाएगा, गुजरात उन्हें तबाह कर दे। उन्होंने कहा, 'नक्सलियों ने सरदार पटेल की नर्मदा नदी बांध की महत्वाकांक्षी परियोजना को रोकने का प्रयास किया, हमने उनके सपने को साकार करने के लिए अदालतों में 40-50 साल चक्कर लगाए। सरदार पटेल ने तत्कालीन रियासतों के विलय के सभी मुद्दों को हल कर दिया था, लेकिन कश्मीर का जिम्मा किसी और के पास था और वह अनसुलझा ही रह गया।'

पीएम मोदी ने विपक्षी दल कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि गुजरात में कांग्रेस निष्क्रिय दिखती है, लेकिन वह चुपचाप गांवों और कस्बों में जा रही है और लोगों को बीजेपी के खिलाफ वोट करने के लिए मनाने की कोशिश कर रही है। कांग्रेसियों से पूछिए कि क्या वे ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ गए, बड़ा दिल रखिए और सरदार पटेल के स्मारक पर जाइए।