FIFA वर्ल्ड कप फाइनल जीतने के बाद जश्न में डूबा अर्जेंटीना, नीली जर्सी से पटी सड़कें

क्रोएशिया को हराने के बाद अर्जेंटीना का सामना फाइनल में फ्रांस जहां रोमांचक मुकाबले में अर्जेंटीना की जीत हुई, 36 साल बाद फाइनल जीतने के बाद पूरा अर्जेंटीना अब खुशियां मना रहा है।

Updated: Dec 19, 2022, 10:51 AM IST

FIFA वर्ल्ड कप फाइनल जीतने के बाद जश्न में डूबा अर्जेंटीना, नीली जर्सी से पटी सड़कें

बीती रात कतर में फीफा विश्व कप 2022 के फाइनल में अर्जेंटीना को शानदार जीत हासिल हुई है। वहीं फुटबॉल प्लेयर मेसी के लिए यह दिन जीतना खास था, उतना ही फुटबॉल प्रेमियों के लिए फीफा विश्व कप 2022 का दिन रोमांच से कम नहीं था। इस जीत के बाद पूरा अर्जेंटीना जश्न में डूब गया है।

सेमीफाइनल मुकाबले में क्रोएशिया को हराने के बाद अर्जेंटीना का सामना फाइनल में फ्रांस हुआ। जहां रोमांचक मुकाबले में अर्जेंटीना की शानदार जीत हुई। अर्जेंटीना ने पेनल्टी शूटआउट में फ्रांस को 4-2 से हराया। सड़कों पर चारों तरफ अर्जेंटीना के झंडे, नीली जर्सी में लोगों का झुंड और आसमान तक गूंजता ‘मेसी-मेसी’ का शोर। देश के लगभग हर शहर में यह नजारा देखने को मिला। 

फुटबॉल का दीवाना देश कभी न खत्म होने वाले जश्न में डूब गया। राजधानी ब्यूनस आयर्स में मैच खत्म होते ही लोग सड़कों पर उमड़ पड़े। टीम की जर्सी पहने लोगों के हाथ में देश का झंडा और लब पर राष्ट्रगान थे। मैच शुरू होने से पहले पूरा शहर मानों थम गया था। लोग कैफे, रेस्त्रां और सार्वजनिक स्थानों पर लगी बड़ी स्क्रीनों के सामने लोग नजरें गड़ाये खड़े थे। नजरें एकटक अपनी टीम और अपने सुपरस्टार लियोनेल मेस्सी के प्रदर्शन पर थी।

आर्थिक अस्थिरता का सामना कर रहे इस देश के लोगों के चेहरों पर टीम के इस प्रदर्शन ने मुस्कुराहट ला दी है। पहले मैच में सऊदी अरब से मिली अप्रत्याशित हार के बाद लगातार जीत दर्ज करके टीम फाइनल तक पहुंची और शानदार जीत दर्ज की है। बता दें कि अर्जेंटीना में मुद्रास्फीति की दर प्रतिवर्ष करीब 100 प्रतिशत है और देश के दस में से चार व्यक्ति गरीबी में जी रहे हैं।

अर्जेंटीना की अभिनेत्री लैला डेसमेरी ने कहा, ‘इतनी खुशी बरसों बाद मिली है। यह खूबसूरत है। हम बयां नहीं कर सकते कि अगले कुछ दिन कितने अच्छे होने वाले हैं।’ 

उधर, फ्रांस में दंगे भड़क गए हैं। पेरिस, लियोन और नीस समेत फ्रांस के विभिन्न शहरों में फैन्स सड़कों पर उतर आए, वाहनों में आग लगा दी। इसके बाद पुलिस ने मोर्चा संभाला। उपद्रवियों को काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। फाइनल मैच देखने के लिए फ्रांस के फुटबॉल प्रशंसक बार और रेस्तरां में एकत्रित हुए थे, क्योंकि पेरिस और कई अन्य शहरों ने मैच के प्रसारण के लिए आउटडोर स्क्रीन स्थापित करने से मना कर दिया था। फिलहाल पेरिस में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।