धोनी को मेंटोर बनाए जाने के फैसले पर BCCI को मिली शिकायत, हितों के टकराव का दिया गया कारण

धोनी की नियुक्ति के खिलाफ यह शिकायत MP क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व अधिकारी संजीव गुप्ता ने की है, गुप्ता ने यह दलील है कि धोनी इस समय आईपीएल में सीएसके के कप्तान हैं, इसलिए उनकी नियुक्ति हितों का टकराव है

Updated: Sep 09, 2021, 05:53 PM IST

धोनी को मेंटोर बनाए जाने के फैसले पर BCCI को मिली शिकायत, हितों के टकराव का दिया गया कारण
Photo Courtesy : Cricketaddictor

भोपाल/मुंबई। T 20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की मेंटर के तौर पर नियुक्ति करने के अपने फैसले पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को शिकायत मिली है। बीसीसीआई को मिली शिकायत में धोनी की नियुक्ति पर प्रश्न चिन्ह लगाया गया है। धोनी की नियुक्ति के खिलाफ यह दलील दी गई है कि उनकी नियुक्ति हितों का टकराव है। 

धोनी की नियुक्ति के खिलाफ यह शिकायत मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व अधिकारी संजीव गुप्ता ने की है। संजीव गुप्ता ने कहा है कि धोनी इस समय आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स की कप्तानी कर रहे हैं। लिहाजा टीम इंडिया के मेंटोर के पद पर उनकी नियुक्ति हितों के टकराव के दायरे में आता है। संजीव गुप्ता ने इसके लिए बीसीसीआई के संविधान की धारा 38(4) का भी हवाला दिया है। 

दरअसल बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने अक्टूबर महीने में होने वाले टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम का ऐलान किया। इस दौरान जय शाह ने बताया कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के साथ मेंटोर के रूप में जुड़ेंगे। जय शाह ने कहा कि टीम इंडिया का मेंटोर बनने के लिए बीसीसीआई के आग्रह को धोनी ने मान लिया है। 

अब धोनी के मेंटोर बनाए जाने के फैसले के बीच में कानूनी अड़चन आ गई है। जिसके मुताबिक कोई व्यक्ति एक ही समय पर दो पदों पर नहीं रह सकता। हालांकि इस कानूनी पेंच को दूर करने के लिए बीसीसीआई के कानूनी परामर्श लेने की भी खबर मीडिया में आ रही हैं। दूसरी तरफ बहुत हद तक संभव है कि धोनी इस सीजन के बाद आईपीएल को विदा कह दें। जिसके बाद मेंटोर के तौर पर उनकी नियुक्ति को लेकर कोई कानूनी पेंच नहीं रहेगा।