Locust Attack : दमोह के किसानों ने की मुआवज़े की मांग

टिड्डी दल के हमले से सोयाबीन, उड़द की फसल चौपट, किसानों ने लगाई गुहार

Publish: Jun-26, 2020, 06:59 PM IST

Locust Attack :  दमोह के किसानों ने की मुआवज़े की मांग
Photo courtesy : patrika

दमोह और पन्‍ना जिलों में टिड्डी दल के हमले से कई हजार एकड़ की फसल बर्बाद हो गई है। खेत में सोयाबीन और उड़द की फसल के अंकुरण को टिड्डियों ने चट कर डाला है। वहीं कई पेड़ों की डालियां टिड्डियों के झुंड से पटी पड़ी हैं। परेशान किसानों ने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

जगदीश कुर्मी ने सोशल मीडिया पोस्‍ट में बताया कि हटा तहसील के खमरगौर, पन्ना जिले की अमानगंज तहसील के ग्राम धोर्रा कलाँ, धोर्रा खुर्द में कम से कम 1000 एकड़ की फसल को टिड्डियों के एक विशाल दल ने पूरी तरह चौपट कर दिया है। किसानों ने बड़ी मुश्किल से 5500 रुपए क्विंटल की दर से सोयाबीन एवं 15000 रुपये क्विंटल की दर से उड़द का बीज़ खरीदा था लेकिन टिड्डियों ने सब खत्‍म कर दिया है।

किसानों ने सरकार से की मुआवजे की मांग

दमोह जिले के पथरिया ब्लॉक, हटा ब्लॉक और पटेरा ब्लॉक इस समय टिड्डी के निशाने पर हैं। यही तीन ब्लॉक खरीफ सीजन में सोयाबीन की फसल की बोवनी पहले कर चुके हैं। लेकिन जब उसका अंकुरण शुरू हुआ, तो टिड्डी फसल चट करने में लग गए। किसानों की मांग है कि शासन और प्रशासन जल्द से जल्द टिड्डी दल के हमले के कारण चौपट हुई फसल का सर्वे करवाए और किसानों को उचित मुआवजा प्रदान करे। पिछले तीन-चार दिन से इलाके में टिड्डी दल को भगाने के लिए किसानों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। पर उन्हें कामयाबी नहीं मिल सकी है। कुछ इलाकों में लोगों ने डीजे बजाए तो कहीं घरों की छतों पर पटाखे फोड़े गए। कुछ जगहों पर नगर पालिका ने फायर ब्रिगेड से कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराने का प्रयास किया। मगर टिड्डियों की संख्या इतनी ज्यादा थी कि आसमान पर कुछ नजर ही नहीं आ रहा था।