क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया मेहुल चोकसी, प्रत्यर्पण पर 2 जून तक लगी रोक

मेहुल चोकसी को भारत को सौंपने की तैयारी को लेकर एंटीगुआ में विपक्षी पार्टियां पीएम गैस्टन ब्राउन का विरोध कर रही हैं, विपक्षी पार्टियों के विरोध पर पीएम का आरोप है कि चुनाव में पैसों के लिए विपक्षी दल नहीं चाहते कि चोकसी का प्रत्यर्पण हो

Publish: May 31, 2021, 09:18 AM IST

क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया मेहुल चोकसी, प्रत्यर्पण पर 2 जून तक लगी रोक
Photo Courtesy: Moneycontrol

नई दिल्ली। भगोड़ा कारोबारी मेहुल चोकसी के भारत प्रत्यर्पण पर फिलहाल के लिए 2 जून तक रोक लग गई है। चोकसी के प्रत्यर्पण पर डोमिनिका के सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाई है। इसके साथ ही चोकसी को जेल से क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया है। अब कोर्ट में चोकसी की सुनवाई दो जून को होगी, लिहाज़ा तब तक चोकसी को क्वारंटाइन सेंटर में ही रखा जाएगा। 

यह भी पढ़ें : मेहुल चोकसी को भारत लाने के लिए डोमिनिका पहुंचा भारतीय विमान

इससे पहले चोकसी के प्रत्यर्पण से जुड़े कागजात के साथ भारतीय विमान रविवार को डोमिनिका पहुंचा था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के स्टे के चलते अभी चोकसी के प्रत्यर्पण में और देरी हो सकती है। पिछले दो दिनों से चोकसी की जेल से सामने आई तस्वीर भी वायरल हो रही है। जिसमें चोकसी का आंख लाल दिख रहा है और शरीर पर चोट के निशान भी दिख रहे हैं।

दूसरी तरफ चोकसी के प्रत्यर्पण के सिलसिले में एंटीगुआ में ही भारी मतभेद पैदा हो गए हैं। एंटीगुआ की विपक्षी पार्टी चोकसी को भारत को सौंपने का विरोध कर रही हैं। विपक्षी पार्टियों का कहना है कि चोकसी पूर्ण रूप से एंटीगुआ का नागरिक है, इसलिए उसे एंटीगुआ ही लाया जाना चाहिए। वहीं विपक्षी पार्टियों के विरोध पर एंटीगुआ पीएम गैस्टन ब्राउन का कहना है कि विपक्षी पार्टियां विरोध इसलिए कर रही हैं ताकि चुनावों में चोकसी उन्हें पैसों की मदद मुहैया करा सके।