मेहुल चोकसी का आरोप, भारतीय एजेंसियों ने की किडनैप करने की कोशिश

चोकसी ने कहा कि भारतीय एजेंसियों ने पहले मेरे कारोबार फिर संपत्ति पर कब्जा किया, और अब मेरी जान के पीछे पड़े हुए हैं, मेरी आत्मा पर घाव के स्थाई निशान हैं

Updated: Jul 16, 2021, 10:46 AM IST

मेहुल चोकसी का आरोप, भारतीय एजेंसियों ने की किडनैप करने की कोशिश

नई दिल्ली। स्वास्थ्य कारणों से जमानत मिलने के बाद भगोड़ा कारोबारी मेहुल चोकसी अब एंटीगुआ वापस पहुंच गया है। मेहुल चोकसी ने एंटीगुआ पहुंचने के बाद भारतीय एजेंसियों पर कई आरोप लगाए हैं। चोकसी ने कहा है कि भारतीय एजेंसियों ने जो उसे यातनाएं दी हैं, उसके स्थाई निशान उसकी आत्मा पर हैं। 

एंटीगुआ पहुंचने के बाद चोकसी ने कहा कि मैं घर वापस आ गया हूं, लेकिन इस टॉर्चर ने मनोवैज्ञानिक और शारीरिक तौर पर मेरी आत्मा पर स्थाई निशान छोड़े हैं। चोकसी ने कहा कि मेरा सारा कारोबार समाप्त करने और संपत्तियों को जब्त करने के बाद भारतीय एजेंसियां मुझे किडनैप करने की कोशिश करेंगी। 

इसके साथ ही चोकसी ने कहा है कि उसने हमेशा भारतीय एजेंसियों को एंटीगुआ आकर उससे पूछताछ करने के लिए कहा था, और साथ ही यह भी कहा था कि वह जांच में पूरी तरह से सहयोग करेगा। चोकसी ने कहा कि कई मर्तबा मैंने एजेंसियों से एंटीगुआ आकर मुझसे पूछताछ करने के लिए कहा था। क्योंकि मैं स्वास्थ्य खराब रहने के कारण यात्रा नहीं कर सकता था। चोकसी ने कहा कि मैं हमेशा जांच में सहयोग करने के लिए तैयार था, लेकिन मुझे इस तरह अपहरण किए जाने की बिलकुल भी उम्मीद नहीं थी। 

चोकसी ने कहा कि वह जल्द ही अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए भारत आने पर विचार कर रहा है। चोकसी ने कहा है कि बीते 50 दिनों में उसके स्वास्थ्य काफी बुरा प्रभाव पड़ा है। और वह भारत में अपनी सुरक्षा को लेकर आशंकित भी है। 

यह भी पढ़ें : डोमिनिका कोर्ट से मेहुल चोकसी को मिली जमानत, एंटीगुआ वापस जा सकेगा भगोड़ा कारोबारी

दरअसल भगोड़ा कारोबारी मेहुल चोकसी 23 मई को अचानक एंटीगुआ से गायब हो गया था। चोकसी भारत से फरार होने के बाद से एंटीगुआ में रह रहा था। चोकसी एंटीगुआ से गायब होने के बाद सीधे डोमिनिका में मिला। जहां अवैध तौर पर प्रवेश करने का मुकदमा उसके खिलाफ चल रहा है। हालांकि डोमिनिका कोर्ट ने उसे स्वास्थ्य आधार पर अपना इलाज करने के लिए जमानत दे दी है।