पठान के विरोध में बजरंग दल की गुंडागर्दी, इंदौर में दर्शकों को हॉल से भगाया, भोपाल-ग्वालियर में भी अराजकता का माहौल

हिंदूवादी संगठनों के विरोध के बाद भोपाल, इंदौर और ग्वालियर के कई सिनेमा घरों में पठान के शो कैंसिल, पीएम मोदी की फटकार के बावजूद राज्य सरकार ने नहीं दी पर्याप्त सुरक्षा, सिनेमाघरों में घुसकर गुंडागर्दी करते दिखे बजरंग दल के कार्यकर्ता

Updated: Jan 25, 2023, 02:49 PM IST

पठान के विरोध में बजरंग दल की गुंडागर्दी, इंदौर में दर्शकों को हॉल से भगाया, भोपाल-ग्वालियर में भी अराजकता का माहौल

भोपाल। हाल ही में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पीएम मोदी ने पार्टी नेताओं को फिल्मों पर अनावश्यक टिप्पणी न करने की हिदायत दी थी। इसके बावजूद आज शाहरुख़ खान की फिल्म पठान के रिलीज होने पर पार्टी से जुड़े हिंदूवादी संगठनों का हिंसात्मक रवैया परवान पर दिखा। पीएम मोदी की फटकार के बाद भाजपा नेताओं ने पठान का प्रत्यक्ष विरोध तो छोड़ दिया, लेकिन हिंदू संगठनों द्वारा किए जा रहे उपद्रव को सत्ताधारी दल के नेताओं का मौन समर्थन प्राप्त होता दिखा। 

दरअसल, शाहरुख खान की फिल्म पठान बुधवार को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। बीजेपी शासित राज्य मध्य प्रदेश में इस फिल्म का सबसे ज्यादा विरोध देखने को मिल रहा है। भोपाल, इंदौर और ग्वालियर जैसे प्रमुख शहरों के कई सिनेमा घरों में पठान का फर्स्ट शो कैंसिल कर दिया गया। बजरंग दल के कार्यकर्ता यहां सिनेमाघरों में घुसकर गुंडागर्दी करते दिखे। वहीं, पुलिस प्रशासन मूकदर्शक बनी रही।

इंदौर के कस्तूरी सिनेमाघर में शो शुरू होते ही बजरंग दल के कार्यकर्ता लाठी डंडे लेकर भीतर दाखिल हो गए। उन्होंने नारेबाजी करते हुए फिल्म को रुकवा दिया। उनकी गुंडागर्दी यहीं नहीं रुकी, उन्होंने दर्शकों को गालियां देते हुए सिनेमाघर से जबरन बाहर कर दिया। नतीजतन जो दर्शक टिकट खरीद कर फिल्म देखने आए थे उन्हें वापस लौटना पड़ा। हैरानी की बात ये है कि इस दौरान पुलिस भी वहां मौजूद थी, लेकिन बजरंग दल के सामने कुछ करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई।

राज्य में इस तरह के मामले तब सामने आ रहे हैं जब दो हफ्ते पहले ही सीएम शिवराज ने इंदौर में इन्वेस्टर्स समिट के दौरान "इज ऑफ डूइंग बिजनेस" और व्यापारियों को पर्याप्त सुरक्षा देने की बात कही थी। बावजूद इसके इंदौर में बजरंग दल के कार्यकर्ता गुंडागर्दी करते रहे और शासन-प्रशासन ने चुप्पी साध ली।

इधर राजधानी भोपाल स्थित भोपाल टॉकीज में बजरंग दल के कार्यकर्ता जबरन दाखिल हो गए। यहां भी उन्होंने शो को रद्द करवा दिया। हिंदूवादी संगठनों के लोग दर्शकों को खदेड़कर सिनेमाघर में हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे। विरोध के चलते रंगमहल टॉकीज पर लगा फिल्म का पोस्टर भी हटा लिया गया है। ग्वालियर में भी हिंदूवादी संगठनों ने सिनेमाघरों में जाकर जमकर उत्पात मचाया। बहरहाल, राज्यभर में अराजकता का माहौल उत्पन्न होने के बावजूद बयानवीर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने चुप्पी साध रखी है।