चाचा सांसद हैं हमारे : बीजेपी सांसद के भतीजे की कार में स्क्रैच लगने पर वेटनरी कॉलेज में बवाल

जबलपुर के बीजेपी सांसद राकेश सिंह के भतीजे के दोस्त की गाड़ी में वेटनरी कॉलेज के छात्र के वाहन से मामूली टक्कर लगी, समर्थकों पर कॉलेज में घुसकर छात्रों और डॉक्टरों से मारपीट का आरोप

Updated: Dec 28, 2020, 11:04 PM IST

चाचा सांसद हैं हमारे : बीजेपी सांसद के भतीजे की कार में स्क्रैच लगने पर वेटनरी कॉलेज में बवाल
Photo Courtesy : Bhaskar

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर में सत्ता और पहुंच के रौब का शर्मनाक मामला सामने आया है। आरोप है कि सांसद के भतीजे के दोस्त की कार में मामूली स्क्रैच लगना वेटनरी कॉलेज के छात्र को भारी पड़ गया। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक उसके साथ-साथ कॉलेज के कई छात्रों के साथ भी जमकर मारपीट की गई। आरोप यह भी है कि वेटनरी कॉलेज में पढ़ाने वाले डॉक्टर्स को भी बीजेपी सांसद के समर्थकों ने नहीं बख्शा। खबरों के मुताबिक कॉलेज में यह सारी गुंडागर्दी पुलिस प्रशासन के सामने की गई।

दरअसल, जबलपुर के बीजेपी सांसद राकेश सिंह के भाई मुन्ना सिंह का बेटा तनिष्क सिंह अपने दोस्त की कार से रात के पौने बारह बजे सर्किट हाउस नंबर दो के पास से गुजर रहा था। इस दौरान पास में स्थित वेटनरी कॉलेज में पढ़ने वाले एक छात्र की गाड़ी से तनिष्क के दोस्त की गाड़ी को टक्कर लग गई। जिससे तनिष्क के दोस्त की कार में मामूली स्क्रैच आ गया। आरोप है कि इसी बात पर तनिष्क और उसके साथियों को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने छात्र के साथ मारपीट शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें: यूपी में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के नाम पर डाक टिकट जारी, मोदी सरकार की योजना के तहत छपा टिकट

एक प्रमुख हिंदी अखबार ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से बताया है कि उस दौरान छात्र उनसे माफी भी मांग रहा था लेकिन उन्होंने उसकी एक नहीं सुनी। मारपीट के बाद वे छात्र को मुर्गा बनने के लिए कहने लगे। इतने में वेटनरी कॉलेज के कुछ और छात्र घटनास्थल पर पहुंच गए। जिसके बाद सांसद के भतीजे और उसके दोस्तों की कॉलेज के छात्रों के साथ भी हाथापाई हुई।

वारदात की जानकारी मिलते ही बीजेपी नेता कमलेश अग्रवाल तत्काल अपने दो दर्जन समर्थकों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। कमलेश के साथ आए लोगों ने वेटनरी कॉलेज में जमकर गुंडागर्दी की और घटना में शामिल छात्रों के साथ अन्य बेकसूर छात्रों को भी पीटा। इस दौरान कॉलेज में पढ़ाने वाले डॉक्टर्स बीच बचाव करने आए तो उन्हें भी पीटा गया। जवाब में छात्रों ने भी हमलावरों पर पथराव किया जिसमें 4-5 लोगों को मामूली चोटें आई हैं। इस पूरे घटना के दौरान स्थानीय पुलिस कैम्पस में मौजूद थी, इसके बावजूद गुंडागर्दी का यह तांडव काफी देर तक चलता रहा।

यह भी पढ़ें: संजय राउत ने बीजेपी से कहा मुझसे पंगा मत लो, पत्नी को ED का नोटिस मिलने पर भड़के

चूंकि यह घटना सांसद के भतीजे के साथ जुड़ी थी इसलिए तनिष्क की खातिरदारी में एसपी सहित कई थानों के टीआई अपने दल बल के साथ कॉलेज कैंपस पहुंचे। इस घटना से डरकर कई छात्र हॉस्टल छोड़कर आधी रात को भाग गए। 82 छात्रों को पुलिस हॉस्टल से उठाकर थाने ले आई। हालांकि बाद में इनमें से 79 छात्रों को छोड़ दिया गया। सांसद के परिजनों का आरोप है कि वहां मौजूद छात्र नशे में थे और उन्होंने बिना किसी कारण के तनिष्क की गाड़ी को रोककर उसके साथ मारपीट की। फिलहाल पुलिस आरोपी छात्रों की पहचान और धर-पकड़ में जुटी हुई है।