इंदौर: भीषण गर्मी में साइकल से खाना पहुंचाता था युवक, TI तहजीब काजी ने ईद के पहले दी ईदी

पसीने से तर बतर युवक साइकल से जा रहा था डिलीवरी देने, विजयनगर TI तहजीब काजी ने देखा तो दिला दी नई बाइक, लोग बोले- नफरत के इस दौर में मोहब्बत जिंदा है दोस्तों

Updated: May 02, 2022, 07:24 PM IST

इंदौर: भीषण गर्मी में साइकल से खाना पहुंचाता था युवक, TI तहजीब काजी ने ईद के पहले दी ईदी

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर से एक सुकून की खबर सामने आई है। यहां भीषण गर्मी में जोमैटो के डिलीवरी बॉय को साइकिल से फूड डिलीवर करते देख एक टीआई का दिल पसीज गया। उन्होंने थाने के स्टाफ के साथ मिलकर एक दिन की सैलरी इकट्ठा की। इन रुपयों से टीआई ने डिलीवरी बॉय को नई बाइक गिफ्ट कर दी। प्रदेशभर में इस मामले की चर्चा हो रही है और लोग इसे नफरत के दौर में मोहब्बत की मिसाल के तौर पर देख रहे हैं।

विजय नगर पुलिस थाने के प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि उन्होंने हाल ही में रात्रि गश्त के दौरान पसीने से लथ-पथ जय हल्दे (22) को देखा था। वह तेज गति से साइकल चलाते हुए भोजन का पार्सल लेकर जा रहा था। जब युवक से बातचीत की पता चला कि वह आर्थिक परेशानियों से जूझ रहा और दैनिक खर्चे मुश्किल से जुटा पा रहा है तो बाइक कहां से लेगा। डिलीवरी बॉय की परेशानियों ने TI तहजीब काजी का दिल पसीज आया।

वह तत्काल पुलिस थाने गए और अपने सह कर्मचारियों से आपस में चंदा करने की गुजारिश की। विजय नगर थाने के लोगों ने अपनी एक-एक दिन का वेतन निकाला और 32 हजार रूप में शहर के एक वाहन डीलर को शुरुआती भुगतान (डाउन पेमेंट) किया और हल्दे को मोटरसाइकल दिलवा दी।

थाना प्रभारी ने बताया कि स्वाभिमानी युवक ने पुलिस से कहा है कि वह अपने दम पर बाइक की बाकी किश्तें जमा कराएगा।
डिलीवरी बॉय बाइक मिलने से बेहद खुश हुआ और अगले दिन बाइक से डिलीवरी करने के बाद रात को थाने पहुंचा। उसने बताया कि पहले ही दिन उसने हजार रुपए कमाए हैं। जबकि साइकिल से डिलीवरी में 200-300 रुपए ही मिल पाते थे। बाइक के लिए पुलिस का आभार जताते हुए हल्दे ने कहा कि पहले मैं साइकल से हर रात भोजन के महज छह से आठ पार्सल घरों तक पहुंचा पाता था लेकिन अब मैं मोटरसाइकलसे हर रात 15 से 20 भोजन पार्सल पहुंचा रहा हूं।