नगर परिषद का अकाउंटेंट रिश्वत लेते गिरफ्तार, ठेकेदार का बिल पास करने के नाम पर लिए 20 हजार रु

देवास के भौरासा नगर परिषद में उज्जैन लोकायुक्त की कार्रवाई, पेयजल आपूर्ति ठेकेदार की शिकायत पर लिया एक्शन, 2 लाख 22 हजार का बिल पास करने के बदले मांगा था 40 फीसदी हिस्सा

Updated: Oct 04, 2021, 03:07 PM IST

नगर परिषद का अकाउंटेंट रिश्वत लेते गिरफ्तार, ठेकेदार का बिल पास करने के नाम पर लिए 20 हजार रु
Photo Courtesy: Patrika

देवास। उज्जैन लोकायुक्त पुलिस ने भौरासा नगर परिषद के अकाउंटेंट को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। अकाउंटेंट हरिओम कचोले को 20 हजार रुपये के साथ रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया है। मनीष यादव की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। मनीष यादव नगर परिषद में पेयजल आपूर्ति का काम टैंकर के माध्यम से करता है। जिसका 2 लाख 22 हजार 360 रुपये का पेमेंट बकाया था।

अकाउंटेट इसी रकम को जल्दी दिलवाने के बदले 40 प्रतिशत हिस्सा मांग रहा था। जिसके बाद 20 हजार रुपए पर सहमति बनी थी। ठेकेदार मनीष यादव ने मामले की शिकायत उज्जैन लोकायुक्त से कर दी। पहले भी नगर परिषद के अकाउंटेंट के खिलाफ कई शिकायतें मिलीं थीं। लोकायुक्त ने ठेकेदार की शिकायत सही पाई और तुरंत एक्शन लिया।

और पढ़ें:  1.25 लाख की रिश्वत लेते खाद्य अधिकारी गिरफ्तार, पेट्रोल पंप का NOC देने के नाम पर मांगी थी घूस

पूरी प्लानिंग के तहत अकाउंटेट को रंगेहाथ पकड़ने के लिए कैमिकल लगे नोट दिए। जैसे ही आरोपी ने नोट पकड़े लोकायुक्त ने वहां आकर आरोपी अकाउंटेंट हरिओम कचोले को गिरफ्तार कर लिया। मनीष यादव के ट्यूबवेल से 50 रुपए प्रति टैंकर के हिसाब पानी लिया गया था। जिसके लिए नगर परिषद द्वारा बिल का भुगतान किया जाना था।