हमीदिया अस्पताल कांड में बाल आयोग का स्वतः संज्ञान, मुख्य सचिव को दिए जांच समिति गठित करने के निर्देश

राष्ट्रीय बाल आयोग ने मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को जांच समिति गठित कर उनके सदस्यों की सूची भेजने के लिए कहा है, आयोग ने इसके लिए मुख्य सचिव को तीन दिन का समय दिया है

Publish: Nov 10, 2021, 09:11 AM IST

हमीदिया अस्पताल कांड में बाल आयोग का स्वतः संज्ञान, मुख्य सचिव को दिए जांच समिति गठित करने के निर्देश
Photo Courtesy: panaroma.com

भोपाल। सोमवार रात को हमीदिया अस्पताल में हुए दर्दनाक हादसे को लेकर राष्ट्रीय बाल आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है। बाल आयोग ने इस सिलसिले में मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल बैंस को पत्र लिखा है। जिसमें आयोग ने अस्पताल अग्निकांड मामले में जांच समिति गठित करने के निर्देश दिए हैं।

बाल आयोग द्वारा मुख्य सचिव को जांच समिति के सदस्यों के नाम भी बताने के लिए कहा गया है। इसके लिए आयोग ने मुख्य सचिव को तीन दिन का समय दिया है। बाल आयोग ने जांच समिति को लेकर सबसे अहम बात यह कही है कि जांच दल में कोई व्यक्ति हेल्थ डिपार्टमेंट से जुड़ा हुआ नहीं होना चाहिए। 

इसके साथ ही आयोग ने जांच समिति के सदस्य के तौर पर एक पुलिस अधिकारी को भी शामिल करने के निर्देश दिए हैं, जिसकी रैंक आईजी से कम नहीं होनी चाहिए। बाल आयोग ने मुख्य सचिव से कहा है कि जांच समिति के सदस्य स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट में रखे उपकरणों के रख रखाव और उनकी जांच करेंगे।  

दरअसल सोमवार रात करीब नौ बजे भोपाल के कमला नेहरू अस्पताल के चाइल्ड वार्ड में आग लग गई थी। इस दौरान करीब चालीस नवजात बच्चे अस्पताल में भर्ती थे। दम घुटने के कारण चार नवजात बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई थी। लेकिन अगले दिन यानी मंगलवार को ही राज्य सरकार पर मौतों का आंकड़ा छिपाने के आरोप लगने शुरू हो गए।