अमेठी में राहुल-प्रियंका की प्रतिज्ञा पदयात्रा, राहुल गांधी बोले- दिलों में आज भी पहले सी जगह है

जनजागरण अभियान के तहत महंगाई के खिलाफ अमेठी में राहुल-प्रियंका की पद यात्रा, समर्थकों का जुटा हुजूम, राहुल गांधी बोले- यहां की हर गली आज भी वैसी ही है

Updated: Dec 18, 2021, 03:37 PM IST

अमेठी में राहुल-प्रियंका की प्रतिज्ञा पदयात्रा, राहुल गांधी बोले- दिलों में आज भी पहले सी जगह है

अमेठी। उत्तर प्रदेश चुनाव के महासंग्राम में कांग्रेस की ओर से अब राहुल गांधी भी मैदान में आ गए हैं। राहुल गांधी आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ अमेठी में प्रतिज्ञा पदयात्रा पर निकले हैं। राहुल प्रियंका के इस पदयात्रा में समर्थकों का हुजूम देखने को मिल रहा है। 

अमेठी में जनसैलाब देख राहुल गाँधी ने कहा है कि दिलों में आज भी पहले सी जगह है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'अमेठी की हर गली आज भी वैसी ही है- सिर्फ़ जनता की आँखों में अब सरकार के लिए आक्रोश है। दिलों में आज भी पहले सी जगह है- आज भी एक हैं हम, अन्याय के ख़िलाफ़!' 

दरअसल, महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का जनजागरण अभियान देशभर में अब भी जारी है। जन जागरण अभियान के तहत ही राहुल गांधी आज अमेठी में प्रतिज्ञा पदयात्रा पर निकले हैं। राहुल के इस अमेठी दौरे को उत्तर प्रदेश चुनाव के लिहाज से बेहद अहम माना जा रहा है। हालांकि यूपी की कमान अबतक प्रियंका गांध अकेले संभाल रही थी, लेकिन अब राहुल की एंट्री के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उत्साह दोगुना हो गया है।

यह भी पढ़ें: चुनाव पूर्व सपा के फाइनेंसर्स पर IT रेड, अखिलेश यादव बोले- अभी ED, CBI का आना बाकी है

राहुल और प्रियंका की पद यात्रा पूरे 6.5 किलोमीटर की है। इस पदयात्रा के दौरान राहुल गांधी आम जन के बीच हैं और कार्यकर्ताओं से मिलते हुए आगे बढ़ रहे हैं। राहुल की पदयात्रा के लिए अमेठी का चुनाव भी विधानसभा चुनाव के हिसाब से अहम है। चूंकि अमेठी कांग्रेस का गढ़ रहा है। सोनिया गांधी यहीं से साल 1999 में चुनाव जीती थी। इसके बाद अमेठी से 2004, 2009 और 2014 में लगातार राहुल गांधी चुनकर संसद पहुंचे।

साल 2019 के बाद अमेठी में राहुल की सक्रियता कम होने के बाद यहां कांग्रेस का प्रभाव कम होता जा रहा था। राहुल की इस पदयात्रा के साथ एक बार फिर माना जा रहा है कि यहां कांग्रेस की पकड़ मजबूत हो जाएगी, जिसका सीधा फायदा कांग्रेस को आगामी विधानसभा चुनाव में मिलेगा। अमेठी में इस पदयात्रा का असर अमेठी के सीमावर्ती जिलों में पड़ेगा।