पंजाब में गैंगवॉर की आशंका, बवाना गैंग की धमकी- दो दिन में लेंगे मूसेवाला भाई का बदला, चार गैंग हुए एकजुट

नीरज बवाना गैंग ने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से दो दिन में रिजल्ट देने का ऐलान किया है, नीरज भी तिहाड़ जेल में ही बंद है, उसके गैंग के लोग दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में सक्रिय हैं

Updated: Jun 01, 2022, 02:00 PM IST

पंजाब में गैंगवॉर की आशंका, बवाना गैंग की धमकी- दो दिन में लेंगे मूसेवाला भाई का बदला, चार गैंग हुए एकजुट

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला मर्डर के बाद एक बार फिर पंजाब में गैंगवार शुरू हो सकता है। विक्की डोंगर और बंबिहा गैंग के बाद अब नीरज बवाना गैंग ने भी सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये खुलकर मैदान में आ गया है। नीरज बवाना गैंग ने एक फेसबुक पोस्ट में सिद्धू मूसेवाला की हत्या की निंदा करते हुए खुली धमकी देते हुए कहा कि वे दो दिन के भीतर रिजल्ट देंगे।

बवाना गैंग के साथ तिल्लू तेजपुरिया, कौशल गुड़गांव और दविंदर बंबीहा गैंग भी जुड़ा हुआ है। यानी स्पष्ट है की लॉरेंस बिश्नोई गैंग से बदला लेने के लिए चार कुख्यात गैंगस्टर्स एक साथ आ गए हैं। ऐसे में आने वाले दिनों में पंजाब में गैंगवार की आशंका बढ़ गई।
नीरज तिहाड़ जेल में बन्द है, लेकिन उसके गैंग के लोग दिल्ली, हरियाणा ,पंजाब और राजस्थान में सक्रिय हैं। उसके गैंग के लड़के ही नीरज की सोशल मीडिया संभालते हैं। फेसबुक पर उसके गैंग के नाम से दर्जनों पेज बने हुए और लाखों फॉलोअर्स हैं।

दिल्ली में गैंगस्टर नीतू दाबोदा के एनकाउंटर के बाद नीरज बवाना का दबदबा बढ़ गया था। नीरज पर हत्या फिरौती के दर्जनों मामले दर्ज हैं। बता दें कि इसके पहले बंबीहा गैंग भी सिद्धू की मौत का बदला लेने का ऐलान कर चुका है। बंबीहा गैंग ने लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार की आलोचना करते हुए कहा था की, 'तुम लोगों ने बेकसूर शख्स की हत्या की है। सिद्धू मूसेवाला का हमारे गैंग से भी कोई संबंध नहीं था। इसके बावजूद अगर मूसेवाला को हमारे साथ जोड़ा जा रहा है तो हम बदला जरूर लेंगे।'

दरअसल, सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस गैंग ने ली है। लॉरेंस के कनाडा बैठे साथी गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने यह जिम्मा लिया था। इस घटना के बाद तिहाड़ में कैद लॉरेंस बिश्नोई ने सुरक्षा की मांग की है। लॉरेंस ने कहा है कि उसका एनकाउंटर किया जा सकता है। बिश्नोई ने कहा है कि उसे गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में फंसाया जा रहा है। यदि उसे पंजाब में पूछताछ के लिए ले जाया जाता है तो प्रतिद्वंद्वी गिरोह उसकी हत्या कर सकता है। ऐसे में उससे तिहाड़ जेल में ही पूछताछ की जाए और यदि वांरट के आधार पर पंजाब ले जाया जाता है तो उसकी सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध करने का निर्देश दिया जाएं।