एक ही चार्टर से शिमला गए गहलोत-पायलट, तल्ख रिश्तों को लेकर गहलोत बोले- समय सब ठीक कर देता है

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट हिमाचल में नई सरकार के शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए एक ही चार्टर प्लेन से रवाना हुए।

Updated: Dec 11, 2022, 01:18 PM IST

एक ही चार्टर से शिमला गए गहलोत-पायलट, तल्ख रिश्तों को लेकर गहलोत बोले- समय सब ठीक कर देता है

शिमला। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के तल्‍ख रिश्‍ते हाल में देशभर में चर्चा का विषय रहे हैं। लेकिन रिश्तों में आई यह दरार अब कम होती नजर आ रही है। रविवार को राजस्थान सीएम अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट एक ही चार्टर से सफर करते दिखे। वहीं आपसी रिश्तों को लेकर गहलोत ने कहा कि समय सब ठीक कर देता है।

दरअसल, अशोक गहलोत और सचिन पायलट हिमाचल में नई सरकार के शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए एक चार्टर प्लेन से शिमला के लिए रवाना हुए। गहलोत-पायलट के एकसाथ सफर को लेकर सियासी गलियारों में चर्चा है। जानकारी के मुताबिक बूंदी के कापरेन से पहले गहलोत और पायलट एक ही हेलीकॉप्टर में सवार होकर जयपुर पहुंचे। जयपुर से चार्टर प्लेन में दोनों दिल्ली और फिर शिमला के लिए निकले।

पायलट के साथ अनबन को लेकर पूछे जाने पर अशोक गहलोत ने एनडीटीवी से कहा, 'राजनीति में ऐसी घटनाएं-दुर्घटनाएं होती रहती हैं। समय के साथ सब कुछ ठीक हो जाता है। हर कांग्रेसी को सोचना चाहिए कि लड़ाई हमारी भाजपा से है। भाजपा देश में फांसीवादी सरकार चला रही है। ऐसे में कांग्रेस का मज़बूत रहना ज़रूरी है।'

बता दें कि इसी साल 25 सितंबर को हुए सियासी विवाद के बाद से दोनों नेताओं के बीच तल्खी बढ़ हुई है। कुछ दिनों पहले गहलोत ने बिना नाम लिए पायलट को गद्दार तक कह दिया था। इसके बाद दोनों के बीच की खाई और गहरी हो गई। हालांकि, राहुल की यात्रा के राजस्थान में एंट्री से पहले कांग्रेस महासचिव वेणुगोपाल ने दोनों नेताओं के हाथ एक साथ उठवाकर एकजुटता का संदेश दिया था। इसके बाद से दोनों ने साथ दिख रहे हैं।