बंगाल लौटने से पहले ममता बनर्जी ने किया वादा, हर दो महीने में आऊंगी दिल्ली

ममता बनर्जी ने कहा कि विपक्षी एकता बेहद ज़रूरी है, बंगाल वापसी से पहले ममता ने लोकतंत्र बचाओ देश बचाओ का नारा भी दिया

Updated: Jul 31, 2021, 09:29 AM IST

बंगाल लौटने से पहले ममता बनर्जी ने किया वादा, हर दो महीने में आऊंगी दिल्ली

नई दिल्ली। अपने दिल्ली दौरे से राजनीतिक सरगर्मी बढ़ाने के बाद ममता बनर्जी अब पश्चिम बंगाल वापिस लौट रही हैं। बंगाल वापसी से पहले ममता ने यह ज़ाहिर कर दिया कि वे हर दो महीने में दिल्ली आया करेंगी। ममता ने कहा कि लोकतंत्र को हमें हर हाल में बचाना होगा। इसके लिए हमारा नारा है, लोकतंत्र बचाओ, देश बचाओ। 

ममता बनर्जी ने अपने दिल्ली दौरे को लेकर कहा कि उनका यह दौरा कई मायनों में एक सफल दौरा रहा। ममता बनर्जी ने कहा कि इस दौरान उन्होंने विपक्ष के कई नेताओं से मुलाकात भी की। ममता बनर्जी ने कहा कि कई नेताओं से वे कोरोना के चलते नहीं मिल पाईं, लेकिन अगली बार वे उन सबसे भी मुलाकात करेंगी। टीएमसी नेता ने शरद पवार से मुलाकात को लेकर कहा कि उनकी शरद पवार से फोन पर बात हुई है। जो कि काफी सार्थक रही। अगली बार दिल्ली आने पर वे उनसे मुलाकात करेंगी। 

यह भी पढ़ें: दिल्ली दौरे पर ममता बनर्जी की कमलनाथ और आनंद शर्मा से मुलाकात, सियासी अटकलों का दौर शुरू

हालांकि 2024 के लिए ममता से जब उनकी महत्वकांक्षाओं के बारे में पूछा गया, तब एक बार फिर वे इस सवाल को टाल गईं। ममता ने कहा इस समय हर किसी का एक ही लक्ष्य होना चाहिए और वह है इस देश को बचाना। ममता ने कहा कि इस समय देश महंगाई से जूझ रहा है, पेट्रोल डीज़ल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, रसोई गैस महंगी हो गई है। 

यह भी पढ़ें: सोनिया गांधी से मिलीं ममता बनर्जी, बोलीं- अब पूरे देश में खेला होबे

ममता बनर्जी पांच दिनों के दिल्ली दौरे पर आईं थी। दिल्ली दौरे पर उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की। प्रधानमंत्री के अलावा उन्होंने अपने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ कांग्रेस नेताओं से भी मुलाकात की। ममता बनर्जी ने कमल नाथ, आनंद शर्मा, अभिषेक मनु सिंघवी के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात की। टीएमसी नेता ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की। टीएमसी नेता ने अपने दौरे के आखिरी दिन जावेद अख्तर से भी मुलाकात की। ममता से मुलाकात के बाद जावेद अख्तर ने कहा कि ममता पहले बंगाल के लिए लड़ीं और अब वह भारत के लिए लड़ने के लिए इच्छुक हैं।