देश में ऑक्सीजन की कमी से नहीं गई किसी की जान, राज्यसभा में केंद्र सरकार का अजीबोगरीब बयान

केंद्र सरकार के इस बयान के बाद विपक्ष का मोदी सरकार पर हमला, सुरजेवाला ने बताया अंधों और बहरों का शासन, कांग्रेस बोली- मोदी की लापरवाही से हुई मौतें

Updated: Jul 21, 2021, 10:26 AM IST

देश में ऑक्सीजन की कमी से नहीं गई किसी की जान, राज्यसभा में केंद्र सरकार का अजीबोगरीब बयान
Photo Courtesy: Twitter

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर से देश भले ही उबर गया हो लेकिन इस दौरान चारों तरफ़ जो मौत का मंजर देखने को मिला और जिन्होंने अपनों को खोया उसे भूलने के लिए सदियां भी कम हैं। महामारी से जिनकी मौतें हुईं वे तो अब कभी लौट के नहीं आने वाले, लेकिन जो जीवित हैं, उन्हें ताउम्र याद रहेगा कि किस तरह वे अपनों को बचाने के लिए जूझ रहे थे, रुकती सांसों को थामने के लिए दौड़-भाग कर रहे थे, लेकिन ऑक्सीजन न मिल पाने के कारण एक-एक कर सांसें रुकती जा रहीं थीं। हालांकि, केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार का अनुभव आम लोगों के अनुभवों से थोड़ी अलग है।

केंद्र सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी से भारत में एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई। केंद्र सरकार ने राज्यसभा में इस बात का स्पष्ट दावा किया है कि देश के किसी भी राज्य से ऐसी जानकारी नहीं मिली है कि ऑक्सीजन न मिलने की वजह से किसी मरीज की मौत हुई। यानी, यदि केंद्र सरकार सत्य बोल रही है तब यह माना जा सकता है कि दूसरी लहर के दौरान आम लोगों ने अपने चारों तरफ जो देखा, जो सुना और ऑक्सीजन की कमी से जिन्होंने अपनों को खोया वह हकीकत नहीं बल्कि एक स्वप्न है।

यह भी पढ़ें: क्रोनोलॉजी समझिए: ‛ऑपरेशन कमल का हथियार बना था पेगासस, जासूसी कर कर्नाटक में गिराई गई थी कांग्रेस सरकार’

दरअसल, कांग्रेस सांसद वेणुगोपाल ने राज्यसभा में मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से इस संबंध में प्रश्न पूछा था। इसके जवाब में राज्यमंत्री डॉ भारती प्रवीण कुमार ने लिखित में दिए जवाब में कहा - स्वास्थ्य राज्य का विषय है। मौत की रिपोर्ट की विस्तृत जानकारी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश स्वास्थ्य मंत्रालय को रेगुलर बेसिस पर मुहैया कराते हैं। राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों की रिपोर्ट के मुताबिक देश में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई है।' हालांकि, केंद्र ने ये जरूर स्वीकार किया है कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की डिमांड कई गुना बढ़ गई थी।

केंद्र सरकार के इस अजीबोगरीब दावे को लेकर केंद्र सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने इस बारे में ट्वीट कर कहा है की, 'सच है-—ऑक्सीजन की कमी से कोई नहीं मरा, मौतें तो नरेंद्र मोदी की लापरवाही का नतीजा है।' 

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने केंद्र के इस दावे पर तल्ख टिप्पणी की है। सुरजेवाला ने कहा है कि केंद्र में अंधों और बहरों की सरकार है, जिन्हें न कुछ दिखाई देती है और न सुनाई देती है। 

यह वाकई हैरान करने वाली स्थिति है कि दूसरी लहर के दौरान देशभर के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मरीजों के मौत की खबरें सामने आईं। कई राज्य सरकारों और अस्पतालों ने भी इस बात को स्वीकारा। लेकिन केंद्र सरकार ने एक झटके में सभी रिपोर्ट्स को झुठलाते हुए यह कहा है कि ऑक्सीजन की कमी से कोई नहीं मरा।