मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसके लिए गाया, हमें तुमसे प्यार कितना ये हम नहीं जानते

ऐसी अनगिनत खबरों के लिए सुनें हम समवेत की ख़ास पेशकश 'समाचार सारांश'

Updated: Aug 12, 2021, 09:05 AM IST

अब अलग अलग अखबार पढ़ने से मुक्ति। हम समवेत के 'समाचार सारांश' में सुनिए एमपी के अखबारों में छपी खबरें एक साथ। यहां आपको मिलेगी वो खबरें जो आपके लिए जानना महत्वपूर्ण हैं।

कैलाश विजयवर्गीय की भुट्टा पार्टी में राजनीतिक खिचड़ी

विधानसभा परिसर में बुधवार की शाम आयोजित भुट्टा पार्टी में अलग ही राजनीतिक खिचड़ी पकती दिखाई दी। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय की इस पार्टी में प्रदेश के सियासी धुरंधर अलग ही रंग में नजर आए। कभी दोस्त, कभी प्रतिस्पर्धी की तरह नजर आने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व कैलाश विजयवर्गीय ने पूरे तरन्नुम के साथ 'ये दोस्ती हम  नहीं तोड़ेंगे...' और 'हमें तुमसे प्यार कितना...' गीत गाये।  पार्टी में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ भी मौजूद थे। इस आयोजन के राजनीतिक मकसद तलाशे जा रहे हैं। 

मंत्री पद पाने के लिए अलग थलग पड़े भाजपा नेता एकजुट

शिवराज कैबिनेट में शामिल होने के लिए लंबे समय से इंतजार कर रहे मंत्री पद के कई दावेदार इन दिनों बेचैन हैं। बुधवार को राजधानी में ऐसे कई वरिष्ठ विधायक और मंत्री पद के दावेदार पूर्व मंत्री अजय विश्नोई के आवास पर बैठे। इसे सत्ता संगठन पर दबाव बनाने की रणनीति माना जा रहा है। फिलहाल मुख्यमंत्री सहित कैबिनेट में कुल 31 सदस्य हैं। चार पद कार्य खाली हैं, जिसके लिए टकटकी लगाने में वालों में पूर्व मंत्रियों के साथ वरिष्ठ नेता साल भी हैं। विश्नोई के आवास पर गौरीशंकर बिसेन, राजेंद्र शुक्ल, यशपाल सिंह सिसौदिया, केदार शुक्ल, नागेंद्र सिंह गुढ़ बनने और दीपक जोशी पहुंचे थे। भाजपा में कांग्रेस छोड़ कर आये ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों को पद देने की नीति के कारण।ये कद्दावर नेता खुद को अपेक्षित महसूस कर रहे हैं। 

नागपुर के बाद भोपाल होगा आरएसएस का दूसरा 'घर'


नागपुर के बाद अब भोपाल को दूसरा मुख्यालय बनाने की योजना पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की सक्रियता बढ़ गई है। सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले की 4 दिनी भोपाल प्रवास के दौरान इस मुद्दे पर भी विचार मंथन किया जाएगा। सह  सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य का मुख्यालय बनाए जाने के बाद अब में भोपाल में बड़ा कार्यालय की  जरूरत भी पूरी की जाएगी। संघ मुख्यालय विस्तार के लिए 12 नंबर स्थित समाज सेवा न्यास भवन के साथ ही अन्य विकल्प और जमीन तलाशी जा रही है।