रायपुर में पकड़ाया महिलाओं से ठगी करने वाला भाभी गैंग, छठी पास सरगना ने पढ़े लिखों से ऐंठे 35 लाख रुपए

रायपुर की खमतराई पुलिस ने ठगी के आरोपी गैंग की 5 शातिर महिलाओं को किया गिरफ्तार, खराब माली हालत और बीमारी का बहाना बनाकर लोगों से ऐंठती थीं रुपए, गिरवी रखे गहने छुडाने के लिए मांगती थी पैसे

Updated: Jun 29, 2021, 03:16 PM IST

रायपुर में पकड़ाया महिलाओं से ठगी करने वाला भाभी गैंग, छठी पास सरगना ने पढ़े लिखों से ऐंठे 35 लाख रुपए
Photo Courtesy: Bhaskar

रायपुर। राजधानी की खमतराई पुलिस ने महिलाओं से दोस्ती और फिर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गैंग में 5 महिलाएं शामिल हैं। जो लोगों को अपनी दर्द भरी कहानी सुनाकर उनसे रुपए ऐंठती थी। इस गैंग की महिलाएं पहले तो किसी इलाके में रहने जाती और फिर स्थानीय लोगों से आत्मीयता बढ़ाती उनसे भाभी और बहन का रिश्ता जोड़ लेती थीं। जब लोगों को उन पर भरोसा हो जाता तो अपनी दुखभरी कहानी सुनाती और घरेलू महिलाओं को इमोश्नल ब्लैकमेल करतीं। इस गिरोह की सरगना महिलाओं से अपनी तंगहाली का किस्सा सुनाकर कहती की उसके गहने गिरवी रखे हैं। वे उन गहनों की फोटो भी महिलाओं को दिखाती और लॉकडाउन में माली हालत खराब होने की बात कहती थी।  

भाभी गैंग की महिलाएं कहती थीं कि अगर उन्होंने गिरवी गहनों के बदले ली गई रकम नहीं चुकाई तो उनके गहने जब्त हो जाएंगे। वहीं गैंग की सरगना कुमकम और उसकी साथी महिलाएं लोगों को सस्ते में गहने बेचने का आफर दे देती थीं। कहती थी कि अगर उन्हें पैसे मिल जाएं तो वे अपने गहने मुक्त करवा कर उन्हें सस्ते में बेच देंगी। कुमकुम कहती थी कि वह उन्हें मार्केट रेट से कम में सोना दे देंगी। गैंग की शातिर महिलाएं इतनी चालाकी से बात करती थीं, कि कोई भी उनकी चिकनी चुपड़ी बातों पर यकीन कर ले। रायपुर की खमतराई पुलिस का कहना है कि करीब आधा दर्जन महिलाओं ने झांसे में आकर दो साल में करीब 35 लाख रुपए खोए हैं। कई महिलाओं ने अपनी मेहनत के रुपए औऱ बचत का पैसा तक इस शातिर गैंग की महिलाओं को दे दिए। लेकिन उन्हें केवल मायूसी ही हाथ लगी ना सोना मिला और ना ही उन्हें रुपए मिले।

आरोपी महिला कुमकुम लोगों से कहती की उसके करीब 85 तोले सोने के गहने उसने मणपुरम गोल्ड लोन और मुथूट फायनेंस में रखे हैं। पैसे नहीं चुकाने पर गहने जब्त हो जाएंगे। गैंग की महिलाएं लोगों को 28 हजार रुपए तोला सोना देने का झांसा देती थीं।

पुलिस का कहना है कि खमतराई थाने में शिकायत करने आई महिला सरिता से आरोपी ने   कुमकुम 22 लाख 70 हजार रुपए ले चुकी है। सरिता दो साल से रुपए और सोना लेने के लिए भटकती रही। आखिर में उसने मामले की शिकायत पुलिस में की है। मामला सामने आने पर आधा दर्जन से ज्यादा महिलाओं ने ठग भाभियों के गैंग के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। कुमकुम और उसकी शातिर गैंग ने आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को ठगा है। फरियादी अनिता वर्मा ने कुमकुम और उसके साथियों को रुपए देते वक्त का वीडियो बना लिया जिसके आधार पर महिलाओं की पहचान की जा सकी है। पुलिस ने इस गैंग की मास्टर माइंड ओडिशा निवासी सुनीता उर्फ कुमकम के साथ उसके गैंग की सदस्यों पी. अनुसुइया राव, पूर्णिमा साहू, प्रतिभा मिश्रा और गीता महानंद को गिरफ्तार किया है, अब ये शातिर ठग महिलाएं जेल की सलाखों के पीछे हैं।

खमतराई पुलिस का कहना है कि कुमकुम ने रायपुर से पहले कवर्धा में भी लोगों को ठगा था। वह कम समय में पैसा डबल करने का झांसा देती थी। कवर्धा में कुमकुम ने करीब 17 लाख की ठगी की है। कुमकुम ओडिशा की रहने वाली है, और चार शादियां कर चुकी है। लेकिन उसकी किसी ने नहीं पटती जिसकी वजह से वह यहां-वहां घूमती है औऱ लोगों को चूना लगाकर अपना काम चलाती है।