विचारों की अभिव्यक्ति के लिए किया जा रहा दंडित, लेकिन मैं खुद को पीड़ित नहीं कहना चाहतीं: स्वरा भास्कर

स्वरा भास्कर ने कहा कि नामी गिरामी ब्रांड्स ने कान्ट्रेक्ट खत्म किया, क्योंकि वे CCA प्रोटेस्ट का हिस्सा बनीं, उन्हें मूल रूप से देश के संवैधानिक मूल्यों में विश्वास करने के लिए दंडित किया जा रहा है, वे सजा के लिए तैयार हैं

Publish: Nov 27, 2021, 03:04 PM IST

विचारों की अभिव्यक्ति  के लिए किया जा रहा दंडित, लेकिन मैं खुद को पीड़ित नहीं कहना चाहतीं: स्वरा भास्कर
Photo Courtesy: instagram

स्वरा भास्कर  विभिन्न मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने के लिए फेमस हैं, उनका कहना है कि अपने विचारों को व्यक्त करने के लिए उन्हें दंडित किया गया है। उनके कई कॉन्ट्रेक्ट यह कहकर खत्म कर दिए गए कि उन्होंने उन ब्रांड्स की छवि धूमिल की है। उनकी मानें तो उन्हें भारत के संवैधानिक मूल्यों पर विश्वास करने की सजा दी जा रही है, लेकिन वे इस सजा के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

इन कान्ट्रेक्ट्स के खत्म होने पर भी वे खुद को पीड़ित की तरह नहीं दिखना चाहती है। वे कहती है कि उन मुद्दों में शामिल होना उनका फैसला था। वे कहती है कि यह वह लड़ाई है जिसे वे लड़ना चाहती हैं, और अगर इसके लिए कोई भी  कीमत चुकानी पड़ी तो यह चुकाएंगी। वे कहती है कि ‘अगर मुझे मूल रूप से इस देश के संवैधानिक मूल्यों में विश्वास करने के लिए दंडित किया जा रहा है तो मैं वह सजा लेने को तैयार हूं”।

ये बातें उन्होंने एक मीडिया इंटरव्यू में कही हैं। हाल ही में शीर कोरमा के लिए इंटरनेशनल अवार्ड जीतने वाली वर्सिटाइल एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने खुलासा किया है कि उन्हें अपनी निजी  राय व्यक्त करने के लिए दंडित किया गया है। CAA, NRC और किसान आंदोलन जैसे विषयों पर अपनी बेबाक राय रखने की वजह से उनके हाथ से कई प्रोजेक्ट्स फिसल गए हैं। फिल्म और विज्ञापन कंपनियों ने उनसे अपना कॉन्ट्रेक्ट खत्म कर दिया है। स्वरा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं, वहीं देश में चल रही सामाजिक और राजनैतिक गतिविधियों पर पैनी नजर रखती हैं। साथ ही उसपर अपनी राय रखना नहीं भूलती चाहे वह धारा के खिलाफ ही क्यों ना हो।

इन सब के बीच अपनी इंस्टास्टोरी में स्वरा ने एक खुशखबरी शेयर की है। उन्होंने एक बच्ची गोद लेने का फैसला किया है। जिसकी प्रोसेस भी शुरू हो गई है। फिलहाल बच्चा गोद लेने की वेटिंग लिस्ट में है।