नवाज़ शरीफ के कहने पर मोदी ने कराया इमरान खान का फोन हैक, पाकिस्तानी मंत्री ने किया दावा

इमरान खान सरकार में मंत्री फारुख हबीब ने दावा किया कि मोदी और नवाज़ शरीफ के बीच गहरी दोस्ती रही है, नवाज़ शरीफ के कहने पर ही मोदी ने इमरान खान का फोन हैक कराया था, हबीब ने दावा किया कि जब इमरान खान विपक्ष के नेता और शरीफ पीएम हुए करते थे, उसी दौरान उनका फोन हैक कराया गया था

Publish: Jul 21, 2021, 11:13 AM IST

नवाज़ शरीफ के कहने पर मोदी ने कराया इमरान खान का फोन हैक, पाकिस्तानी मंत्री ने किया दावा

नई दिल्ली। पेगासस जासूसी कांड का मुद्दा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भी तूल पकड़ता जा रहा है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का फोन हैक किए जाने के दावों के बीच इमरान सरकार के मंत्री फारुख हबीब ने कहा है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बेस्ट फ्रेंड और पूर्व पाकिस्तानी पीएम नवाज़ शरीफ के कहने पर इमरान खान का फोन हैक कराया था। फारुख हबीब इमरान सरकार में सूचना प्रसारण मंत्री हैं। 

इमरान सरकार के मंत्री ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि इमरान खान का फोन हैक किया जाना काफी शर्मनाक है। इमरान खान के फोन को पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ ने भारत के प्रधानमंत्री मोदी की मदद से हैक कराया था। फारुख हबीब ने कहा कि इमरान खान का फोन हैक उस दौरान कार्य गया जब इमरान खान विपक्ष के नेता थे और पाकिस्तान में नवाज़ शरीफ की सरकार हुआ करती थी। 

यह भी पढ़ें : क्रोनोलॉजी समझिए: ‛ऑपरेशन कमल का हथियार बना था पेगासस, जासूसी कर कर्नाटक में गिराई गई थी कांग्रेस सरकार’

इमरान के मंत्री ने कहा कि उस समय इमरान लगातार पनामा लीक्स का मुद्दा उठा रहे थे। जिसके बाद नवाज शरीफ ने अपने बेस्ट फ्रेंड मोदी की मदद से इमरान खान का फोन हैक कराया। फारुख हबीब ने शरीफ और मोदी की कथित गहरी दोस्ती का हवाला देकर बताया कि नवाज़ शरीफ और मोदी के बीच कितनी गहरी मित्रता थी, उसे इसी बात से समझा जा सकता है कि शरीफ ने सिर्फ मोदी के कहने भर से हुर्रियत के नेताओं से मिलने से इनकार कर दिया था। 

यह भी पढ़ें : कैसे रखें अपने फोन को सुरक्षित, एमनेस्टी इंटरनेशनल के सिक्योरिटी टिप्स के ज़रिए समझें

इमरान खान के फोन हैकिंग का मामला पाकिस्तानी अंग्रेजी अखबार द डॉन ने उछाला। अखबार ने द पोस्ट की एक रिपोर्ट के आधार पर बताया कि पेगासस के जरिए इमरान खान का भी फोन हैक करने की कोशिश की गई थी। और हैकिंग की यह कोशिश दिल्ली से की गई थी। हालांकि अखबार कोई यह सबूत पेश करने में नाकाम रहा कि इमरान खान के फोन हैक करने में हैकर्स कामयाब हो पाए था या नहीं। 

उधर इमरान सरकार के एक अन्य मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि इमरान खान के फोन हैकिंग के संबंध में अभी और जानकारी आना बाकी है। जैसे ही एक बार पुख्ता जानकारी हमारे पास आ जाएगी, हम इस मसले को अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर उठाएंगे।