नेपाल: ओली की रणनीति हुई फेल, नए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने संसद में जीता विश्वास मत

पिछले हफ्ते नेपाली पीएम के रूप में शपथग्रहण करने वाले शेर बहादुर देउबा ने विश्वास मत जीत लिया है, उन्हें 165 सदस्यों का समर्थन प्राप्त हुआ, पीएम मोदी ने देउबा को बधाई दी

Updated: Jul 19, 2021, 10:44 AM IST

नेपाल: ओली की रणनीति हुई फेल, नए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने संसद में जीता विश्वास मत
Photo Courtesy: Twitter

काठमांडू। नेपाल में लंबे समय से चल रहे राजनीतिक संकट के बीच केपी ओली की रणनीति को फेल कर नए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने रविवार को संसद में विश्वास मत जीत लिया है। नेपाली कांग्रेस चीफ देउबा को 275 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में कुल 165 सदस्यों का समर्थन मिला, जबकि 83 सदस्यों ने उनके खिलाफ वोटिंग किया।

देउबा को निचले सदन में विश्वास मत जितने के लिए 136 मतों की जरूरत थी। रविवार को हुई मतदान प्रक्रिया के दौरान 249 सदस्यों ने हिस्सा लिया। इस दौरान एक सांसद ने किसी को भी वोट नहीं किया। मतदान प्रक्रिया समाप्त होने के बाद हाउस स्पीकर अग्नि प्रसाद सपकोटा ने नतीजे पढ़ें और देउबा को स्पष्ट बहुमत प्राप्त हुई।

यह भी पढ़ें: पेगासस स्पाइवेयर के जरिए 40 से अधिक पत्रकारों की हुई जासूसी, फॉरेंसिक टेस्ट के हवाले से रिपोर्ट में दावा

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवनिर्वाचित नेपाली पीएम देउबा को बधाई दी है। मोदी ने ट्वीट किया, 'पीएम शेर बहादुर देउबा को बधाई और उनके सफल कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं। मैं सभी क्षेत्रों में दोनों देशों की अनूठी साझेदारी को और आगे बढ़ाने के लिए, और लोगों के बीच आपसी संबंधों को मजबूत करने के लिए तत्पर हूं।' 

नेपाली संसद के निचले सदन में देउबा की पार्टी नेपाली कांग्रेस के महज 61 सदस्य हैं। जबकि, गठबंधन में साझेदार नेपाली कम्युनिस्टी पार्टी के 48 सदस्य, सीपीएन-यूएमल के 26 सदस्य हैं जिन्होंने देउबा का समर्थन किया है। इसके अलावा जनता समाजवादी पार्टी के यादव गुट ने भी देउबा का समर्थन किया है।