लकड़ी ले जाते गरीब लोगों को वन मंत्री ने पकड़ा, कांग्रेस ने कहा, बीजेपी को सिर्फ गरीब ही क्यों दिखाई देता है

सीहोर और देवास के बीच की घटना, चूल्हा जलाने के लिए खराब और गीली लकड़ी लेकर घर जा रहे थे दो लोग, वन मंत्री ने लकड़ियां करवाई जब्त, कांग्रेस ने किया विरोध

Publish: Sep 17, 2021, 02:18 PM IST

लकड़ी ले जाते गरीब लोगों को वन मंत्री ने पकड़ा, कांग्रेस ने कहा, बीजेपी को सिर्फ गरीब ही क्यों दिखाई देता है
Photo Courtesy: Social media

सीहोर। शिवराज सरकार में वन मंत्री विजय शाह एक बार फिर चर्चा में है। वन मंत्री ने गुरुवार को सीहोर और देवास के बीच लकड़ी ले कर जाते दो गरीब लोगों को पकड़ लिया। वन अमले से कहकर उनकी लकड़ियां भी जब्त करवा दी। वन मंत्री की इस कार्रवाई का कांग्रेस ने विरोध किया है। कांग्रेस ने वन मंत्री और बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि भाजपा वन माफियाओं पर कार्रवाई नहीं करती, उसे सिर्फ गरीब लोग ही दिखाई देते हैं। 

कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने वन मंत्री की तस्वीर को अपने ट्विटर हैंडल पर साझा करते हुए कहा है कि भाजपा को माफिया नहीं सिर्फ गरीब ही दिखाई देता है। सलूजा ने कहा कि एक गरीब जब रसोई गैस महंगी होने पर चूल्हे के लिए लकड़ी बीन कर जाता है, तो प्रदेश के वन मंत्री गरीब को रोब दिखाते हुए लकड़ी को ज़ब्त करवा देते हैं। जबकि दूसरी तरफ वन माफिया रोज ट्रक भर कर लकड़ी ले जा रहे हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार वन मंत्री विजय शाह गुरुवार को खंडवा की ओर जा रहे थे। सीहोर और देवास के बीच उन्हें दो व्यक्ति साइकिल पर लकड़ी ले जाते दिखे। दोनों कथित तौर पर घर के लिए गीली और बेकार लकड़ी लेकर जा रहे थे। वन मंत्री ने तत्काल ही दोनों लोगों को रोक लिया। और फौरन वन अमले को सूचित भी कर दिया। 

वन मंत्री की सूचना पर वन अमला मौके पर पहुंच गया। इसके बाद दोनों युवकों की लकड़ियां जब्त कर ली गई। इसके बाद वन मंत्री वहां से रवाना हो गए। हालांकि हिंदी के एक अखबार ने अपनी रिपोर्ट में यह दावा भी किया है कि गुरुवार को वन मंत्री ने जिन दो युवकों की लकड़ियां जब्त की है, उनके पास से एक क्विंटल जलाऊ लकड़ी जब्त की गई। और इसके बाद दोनों को हिरासत में भेज दिया गया।