खुद को डॉन कहकर पुलिस को पकड़कर दिखाने की चुनौती दे रहा था दो हत्याओं का आरोपी, गुनाह करने से पहले पुलिस की हिरासत में आया

ग्वालियर के रहने वाले राकेश वाल्मीकि ने लॉकडाउन के दौरान दो लोगों की हत्या की, इसके बाद से ही वह फरार चल रहा था, साथ ही डॉन फिल्म का डायलॉग बोलकर पुलिस को पकड़कर दिखाने की चुनौती दे रहा था, बुधवार को तीसरी वारदात करने से पहले ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया

Publish: Jun 03, 2021, 09:59 AM IST

खुद को डॉन कहकर पुलिस को पकड़कर दिखाने की चुनौती दे रहा था दो हत्याओं का आरोपी, गुनाह करने से पहले पुलिस की हिरासत में आया
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

ग्वालियर। लॉकडाउन के दौरान दो लोगों की हत्या करने वाला आरोपी आखिरकार पकड़ा गया। ग्वालियर का रहने वाला आरोपी दो लोगों की हत्या करने के बाद खुद को डॉन बता रहा था। साथ ही डॉन फिल्म का डायलॉग बोलकर वह पुलिस को उसे पकड़कर दिखाने की चुनौती दे रहा था। साथ ही कह रहा था कि अगर उसमें दम हो तो वह उसे पकड़कर दिखाए। 

लेकिन बुधवार को इससे पहले कि वह एक और गुनाह करता, उससे पहले ही उसे पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस को आरोपी के पास से एक कट्टा और दो कारतूस बरामद हुए। पुलिस ने आरोपी को सलाखों के पीछे बंद कर दिया है। 

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के 2 हज़ार से ज़्यादा पुलिसकर्मी हुए कोरोना संक्रमित, 90 फीसदी को लग चुकी थी वैक्सीन की दोनों खुराक

दरअसल राकेश वाल्मीकि नामक आरोपी ने लॉकडाउन के दौरान तीन दिन में दो लोगों की हत्या कर दी थी। जिसके बाद आरोपी के ऊपर 10 हज़ार रुपए का इमाम घोषित किया गया था। राकेश वाल्मीकि ने 14 अप्रैल को पनिहार के शालु पुरा इलाके में गोपाल कुशवाह नामक व्यक्ति से विवाद के बाद उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिसके बाद पुलिस ने उसके ऊपर 5 हज़ार रुपए का इमाम घोषित कर रखा था।

यह भी पढ़ें : मेहुल चोकसी के भारत प्रत्यर्पण पर आज आएगा फैसला, पत्नी ने मारपीट पर उठाए सवाल

हत्या के ठीक दो दिन बाद उसने घर के बाहर बैठे दिव्यांग विनोद कुमार कुशवाह की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्या से पहले दिव्यांग और उसके साथ ताश खेल रहे थे। इसी दौरान राकेश वाल्मीकि ने छीना झपटी करने की कोशिश की और विवाद बढ़ने पर उसने विनोद कुशवाह पर गोली चला दी। 

राकेश वाल्मीकि इलाके के हिस्ट्रीशीटर अपराधियों में से एक है। उसके ऊपर पुलिस में 20 मुकदमे दर्ज हैं। जिसमें हत्या के दो, हत्या के प्रयास के चार और आर्म्स एक्ट के तहत चार मामले दर्ज हैं। बुधवार को जब वह एक और वारदात को अंजाम देने की फिराक में था तब क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर पप्पू यादव को इस बात की जानकारी मिल गई। और क्राइम ब्रांच की एक टीम ने राकेश वाल्मीकि को गिरफ्तार कर लिया।