मुख्यमंत्री के सामने आत्मदाह की कोशिश, भूमाफ़िया से परेशान युवक ने नारे भी लगाए

ग्वालियर की सभा में शिवराज के मंच पर आते ही युवक ने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाने की कोशिश की, पुलिस ने बचाया, युवक अपनी ज़मीन पर अवैध क़ब्ज़ा कर लिए जाने से निराश है

Updated: Feb 07, 2021, 07:45 PM IST

मुख्यमंत्री के सामने आत्मदाह की कोशिश, भूमाफ़िया से परेशान युवक ने नारे भी लगाए
Photo Courtesy : Zee News

ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश में माफ़िया को ख़त्म करने, ज़मीन में गाड़ देने की बातें करते हैं, लेकिन जमीनी हकीकत क्या है, इसका खुलासा आज उनकी सभा में ही हो गया। एक युवक ने उनके सामने ही आत्मदाह की कोशिश की। बाद में पता चला कि उसने ये ख़तरनाक कदम भूमाफ़िया से परेशान और निराश होने की वजह से ही उठाया है। एक सप्ताह के अंदर सीएम की सभा में इस तरह का यह दूसरा मामला है। इससे पहले देवास में एक युवक ने सीएम की सभा में आत्मदाह की कोशिश की थी।

मुख्यमंत्री की सभा में ये चौंकाने वाला वाक़या रविवार को ग्वालियर के फूलबाग मैदान में आयोजित सभा के दौरान देखने को मिला। बताया जा रहा है कि मुरैना का रहने वाला ये युवक अपनी परेशानी की तरफ मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित करना चाहता था। भू-माफिया के अत्याचारों से परेशान इस युवक ने आत्मदाह की कोशिश करने से पहले शासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। सभा में उसने केरोसिन डालने के बाद आग लगाने के लिए माचिस निकाली ही थी कि पुलिसवालों ने उसे पकड़कर रोक लिया। इसके बाद पुलिस ने उसे फौरन कार्यक्रम स्थल से बाहर निकाला। 

Photo Courtesy : Dainik Bhaskar

दरअसल रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह विकास कार्यों की समीक्षा और भूमिपूजन के लिए ग्वालियर पहुंचे थे। फूलबाग में शाम 4 बजे उनकी सभा थी। करीब सवाल चार बजे सीएम शिवराज ने मंच पर पहुंचने के बाद जैसे ही माइक पकड़ा, दर्शकों के बीच पहली क़तार में बैठा युवक अचानक खड़ा होकर शासन मुर्दाबाद के नारे लगाने लगा। देखते ही देखते हुए युवक ने प्लास्टिक की एक बोतल निकाली और खुद पर केरोसिन उड़ेल लिया। इसके बाद युवक ने आग लगाने के लिए माचिस निकाली ही थी कि पुलिस ने उसे पकड़कर रोक लिया।

केरोसिन से भीगे उस युवक को जब पुलिस ले जाने लगी तो उसने चिल्लाकर कहा, मैं भू-माफिया से बहुत परेशान हूं। पप्पू शर्मा ने मेरी जमीन हड़प ली है। एसडीएम भी कुछ नहीं कर रहे, शासन मदद नहीं कर रहा, इसलिए मरने आया हूं। बाद में पता चला कि मुख्यमंत्री के सामने आत्मदाह की कोशिश करने वाले युवक का नाम धर्मेन्द्र शर्मा है। उसने 2008 में मुरैना में प्लॉट खरीदा था, लेकिन ज़मीन पर पप्पू नाम के एक दबंग ने कब्ज़ा कर लिया। धर्मेंद्र का आरोप है कि उसने मदद के लिए पुलिस से लेकर प्रशासन और शासन तक सबसे गुहार लगाई, लेकिन कहीं से मदद नहीं मिली।

ग्वालियर की इस घटना ने प्रदेश में भूमाफ़िया को ख़त्म करने के सरकार के दावों की पोल तो खोल ही दी है, साथ ही मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के सुरक्षा इंतज़ाम भी सवालों के घेरे में हैं। बड़ा सवाल ये है कि पुलिस की चेकिंग के बावजूद यह युवक बैग में केरोसिन से भरी बोतल और माचिस लेकर दर्शकों की पहली क़तार तक कैसे पहुँच गया।