रेमडेसिविर कालाबाजारी मामले में बढ़ी मंत्री तुलसी सिलावट की मुश्किलें, पत्नी का ड्राइवर गिरफ्तार

मध्यप्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट की पत्नी के ड्राइवर को इंदौर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, ड्राइवर का नाम रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के मामले में सामने आया है

Updated: May 23, 2021, 10:02 AM IST

रेमडेसिविर कालाबाजारी मामले में बढ़ी मंत्री तुलसी सिलावट की मुश्किलें, पत्नी का ड्राइवर गिरफ्तार
Photo Courtesy: Outlook

इंदौर। रेमडेसिविर कालाबाजारी मामले में मध्यप्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। पुलिस ने बीजेपी नेता सिलावट की पत्नी के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। मामले पर विपक्ष का आरोप है की सिंधिया के करीबी मंत्री सिलावट के निर्देश पर ही यह गोरखधंधा चलाया जा रहा था। कांग्रेस ने सिलावट पर हत्या का केस दर्ज करने की मांग की है।

मध्यप्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर नित नए खुलासे हो रहे हैं। अब इस मामले में शिवराज के मंत्री तुलसी सिलावट का नाम सामने आ रहा है। दरअसल, सिलावट की पत्नी डॉ पूर्णिमा गड़रिया इंदौर की जिला स्वास्थ्य अधिकारी हैं। पुलिस ने गडरिया के ड्राइवर गोविंद राजपूत को देर रात गिरफ्तार किया है। गोविंद का नाम रेमडेसिविर की कालाबाजारी कड़ते पकड़े गए पुनीत अग्रवाल ने बताया है।

यह भी पढ़ें: 200 रुपये में कोविड निगेटिव रिपोर्ट बना रहे हैं एमपी के डॉक्टर, अनूपपुर में एक डॉक्टर सस्पेंड

दरअसल, विजय नगर पुलिस थाने ने सोमवार को इंजेक्शन खरीदने के बहाने पुनीत को बुलाकर रंगे हाथ पकड़ लिया था। पुनीत इम्पैक्ट ट्रेवल एजेंसी में बतौर ड्राइवर काम करता है। मंगलवार को कोर्ट जाने से पहले उसका एक बयान वायरल हुआ जिसमें उसने बताया कि वह गोविंद राजपूत से इंजेक्शन लेता है। उसने बताया कि गोविंद भी इम्पैक्ट ट्रेवल एजेंसी का है और वह तुलसी सिलावट की पत्नी का ड्राइवर है। जांच के दौरान दोनों के कॉल डिटेल्स भी मिले हैं।

रेमडेसिविर कालाबाजारी में सिलावट का नाम आने के बाद मध्यप्रदेश की राजनीति गरमा गई है। इस मामले में राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने सिलावट को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की है। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, 'यह बहुत गंभीर आरोप है। मंत्री जी के घर से रेमदिस्वीर इंजेक्शन बिक रहा हो और उसमें वे शामिल ना हों, क्या यह संभव है? शिवराज जी यदि बक़ौल उनके “नर पिशाचों” से जनता को बचाना चाहते हैं तो मंत्री जी को तत्काल बर्खास्त करें अन्यथा यही माना जाएगा कि स्वयं शिवराज जी धंधे में शामिल हैं। विधायक श्री संजय शुक्ला जी को मैं बधाई देता हूँ जिन्होंने तुलसी सिलावट मंत्री जी की चोरी पकड़ी।'

सिलावट के खिलाफ हो हत्या का केस- सज्जन वर्मा

कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने इसे जघन्य अपराध बताते हुए कहा है की मंत्री तुलसी सिलावट के खिलाफ हत्या का केस दर्ज होना चाहिए। वर्मा ने कहा, 'सिलावट पर पहले भी कई गंभीर आरोप लगे हैं, सीएम को चाहिए कि उन्हें तत्काल इंदौर के प्रभारी पद से हटाएं। मंत्री रहते सिलावट जांच को प्रभावित कर सकते हैं।' मामले पर कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने कहा है कि, 'मेरे दावों की पुष्टि हो गई है। मैने 10-12 दिन पहले ही बताया था कि सिलावट के परिवार के लोग इंजेक्शन बेच रहे हैं।' 

यह भी पढ़ें: मास्क नहीं पहनने पर महिला की पिटाई, ये मध्यप्रदेश की पुलिस है साहब, इसका जोर गरीब जनता पर ही चलता है

हालांकि, इस मामले सिलावट का तर्क है कि उनकी पत्नी का ड्राइवर एक ट्रेवल एजेंसी के मार्फ़त काम करता था, इसलिए उनका या उनके परिवार का रेमडेसिविर कालाबाजारी से कोई लेना देना नहीं है। उधर मंगलवार को पुलिस कस्टडी में आरोपी पुनीत का वीडियो बयान वायरल होने के बाद दो लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। पुनीत को कोर्ट ले जाते वक्त ड्यूटी पर तैनात होम गार्ड के जवान लक्ष्मण शर्मा को होम गार्ड मुख्यालय अटैच कर दिया गया है वहीं सत्यनारायण नामक पुलिस जवान को भी लाइन अटैच कर दिया है।