पत्नी के इलाज के लिए लिया था 2 लाख रुपए कर्ज, सूदखोर ने वसूले 41 लाख, फिर भी नहीं हुआ चुकता

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले का मामला, सूदखोर ने 18 साल पहले दिए थे 2 लाख रुपए कर्ज, अबतक ब्याज में 41 लाख रुपए वसूल चुका है, अब भी चुकता नहीं हुआ है कर्ज

Updated: May 06, 2022, 06:20 PM IST

पत्नी के इलाज के लिए लिया था 2 लाख रुपए कर्ज, सूदखोर ने वसूले 41 लाख, फिर भी नहीं हुआ चुकता

बैतूल। मध्यप्रदेश में सूदखोरों के काले कारनामे लगातार सामने आ रहे हैं। हालिया मामला बैतूल का है जहां एक सूदखोर ने 2 लाख रुपए कर्ज के बदले 41 लाख रुपए ब्याज वसूल लिया, इसके बावजूद कर्जा चुकता नहीं हुआ है। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपी सूदखोर के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, बैतूल जिले के अंतर्गत आने वाले मुलताई में एक व्यक्ति ने पत्नी का उपचार कराने के लिए सूदखोर से 20 साल पहले 2 लाख रुपए ब्याज पर लिए थे। अब तक पीड़ित 41 लाख रुपए से अधिक राशि सूदखोर को दे चुका है, बावजूद इसके उसका कर्ज खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। आखिरकार तंग आकर पीड़ित थाने पहुंचा जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

बैतूल डीएसपी पल्लवी गौर ने बताया कि मुन्नालाल रगड़े निवासी राजीव गांधी वार्ड मुलताई (64 साल) रिटायर्ड नगर पालिका कर्मचारी है। उन्होंने पत्नी के इलाज के लिए वर्ष 2002 में राजा चंडालिया निवासी गांधी वार्ड मुलताई से 2 लाख उधार लिए थे। इसके बाद मुन्नालाल ने राजा को नगद 7 लाख रुपए दिए। वहीं अपने वेतन से चेक के माध्यम से वर्ष 2007 से 2019 तक प्रतिमाह 24000 रुपए दिए। इस तरह कुल 34 लाख 56 हजार रुपए दे चुके हैं। राजा ने मुन्नालाल से कोरे चेकों पर भी हस्ताक्षर करा लिए। 

पुलिस के मुताबिक राजा ने 2 लाख के एवज में मन्नालाल से सन 2002 से 2020 तक नगद और चेक के माध्यम से 41 लाख 56 हजार रुपए वसूल लिए और अवैध रूप से मनमाफिक ब्याज से राशि की वसूली की। प्राप्त डॉक्यूमेंट्स  से इस बात की पुष्टि भी हुई है। दस्तावेज जांचने के बाद पुलिस ने मुन्ना लाल की शिकायत पर आरोपी राजा चंडालिया के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया।