व्यापमं स्क्वायर हुआ घोटाला घर चौराहा और PEB दफ्तर घोटाला घर, NSUI ने दिए नए नाम

मध्य प्रदेश एनएसयूआई के उपाध्यक्ष आशुतोष चौकसे ने दागदार व्यापमं दफ्तर पर लगाया घोटाला घर का बोर्ड, व्यापमं चौराहे को बताया घोटाला घर चौराहा, सरकार से जनभावनाओं को देखते हुए आधिकारिक रूप से की नाम बदलने की अपील

Updated: Apr 02, 2022, 02:14 PM IST

व्यापमं स्क्वायर हुआ घोटाला घर चौराहा और PEB दफ्तर घोटाला घर, NSUI ने दिए नए नाम

भोपाल। मध्य प्रदेश का दागदार बोर्ड व्यापमं एक बार फिर नए घोटालों को लेकर सुर्खियों में है। पेपर लीक कांड के बाद व्यापमं की जमकर फजीहत हो रही है। शिवराज सरकार द्वारा कई दफा नाम बदलने के बाद भी व्यापमं के दाग धुलने के बजाए और गहरे होते जा रहे हैं। इसी बीच अब विपक्षी दल कांग्रेस की छात्र संगठन एनएसयूआई ने व्यापमं का फिर से नामकरण किया है। एनएसयूआई ने व्यापमं (PEB) दफ्तर का नाम बदलकर 'घोटाला घर' रख दिया जबकि व्यापमं स्क्वायर का नाम 'घोटाला घर चौराहा' रखा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मध्य प्रदेश एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष आशुतोष चौकसे ने शनिवार सुबह पीईबी दफ्तर के बाहर बड़े-बड़े अक्षरों में 'घोटाला घर' का बोर्ड लगा दी। इसके बाद उन्होंने व्यापमं चौराहे पर भी 'घोटाला घर चौराहा' लिखा बड़ा सा होर्डिंग लगाया। एनएसयूआई के पदाधिकारी व्यापमं में परीक्षाओं में गड़बड़ी की निष्पक्ष जांच करने की मांग कर रहे है। 

नाम बदलने को लेकर एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष आशुतोष चौकसे ने कहा कि, 'व्यापमं अपने काले कारनामों के लिए दुनियाभर में कुख्यात है। घोटालेबाज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने घोटालेबाज मंत्रियों और अधिकारियों के साथ मिलकर दिन-रात घोटाले किए तब जाकर व्यापमं को देश-दुनिया में पहचान मिली। एक के बाद एक नए घोटालों के माध्यम से शिवराज सरकार ने संदेश दिया है कि वह लोगों का भविष्य खराब करने के लिए सभी कुकर्म करने को तैयार है।'

चौकसे ने आगे कहा कि, 'प्रदेश के आम लोग व्यापमं दफ्तर को 'घोटाला घर' कहते हैं। इसीलिए NSUI ने व्यापमं दफ्तर और व्यापमं चौराहे का नाम बदला है। हम शिवराज सरकार और भोपाल नगर निगम से भी अपील करते हैं कि जनभावना का सम्मान करते हुए यथाशीघ्र कागजी कार्रवाई पूरी की जाए। ताकि आधिकारिक रूप से भी व्यापमं दफ्तर और चौराहे का नाम परिवर्तित हो सके। इससे युगों-युगों तक शिवराज सरकार के काले कारनामों को याद किया जाएगा।'

यह भी पढ़ें: MP यूथ कांग्रेस ने व्यापमं दफ्तर पर जड़े ताले, प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया गिरफ्तार

बता दें कि इससे पहले यूथ कांग्रेस ने व्यापमं दफ्तर के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया था। एमपी यूथ कांग्रेस चीफ डॉ विक्रांत भूरिया ने इस दौरान व्यापमं दफ्तर पर ताले जड़ दिए थे। भूरिया ने कहा था कि PEB ने प्रदेश के लाखों युवाओं का भविष्य खराब किया है। उन्होंने शिक्षक वर्ग 3 पेपर लीक कांड की निष्पक्ष जांच और एग्जाम रद्द करने की भी मांग की थी।