MP बीजेपी की टीम बंगाल में करेगी प्रदर्शन, मिश्रा-विजयवर्गीय को मिली ममता को घेरने की जिम्मेदारी

ममता को घेरने के लिए मध्यप्रदेश में मंथन,15 जून के बाद बंगाल में बड़े प्रदर्शन की तैयारी, प्रदर्शनकारियों को जुटाने में जुटे विजयवर्गीय और नरोत्तम

Updated: Jun 03, 2021, 11:23 AM IST

MP बीजेपी की टीम बंगाल में करेगी प्रदर्शन, मिश्रा-विजयवर्गीय को मिली ममता को घेरने की जिम्मेदारी
Photo Courtesy: Twitter

भोपाल। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को घेरने के लिए अब मध्यप्रदेश से बीजेपी नेताओं को बंगाल भेजा जाएगा। पीएम मोदी की बैठक में सीएम ममता बनर्जी का आधे घंटे लेट पहुंचना बीजेपी को हजम नहीं हो पाया है। बताता जा रहा है कि हाईकमान की ओर से प्रधानमंत्री मोदी के इस कथित अपमान का बदला लेने की जिम्मेदारी मध्यप्रदेश बीजेपी नेताओं को सौंपी गई है।

मध्यप्रदेश में जारी बैठकों का दौर ममता बनर्जी के खिलाफ रणनीति के संकेत दे रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक 15 जून के बाद बंगाल में ममता के खिलाफ प्रदर्शन शुरू करने की योजना है। बीजेपी के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश के भोपाल दौरे के बाद मध्यप्रदेश बीजेपी में सुगबुगाहट साफ देखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि बंगाल में होने वाले प्रदर्शन का कोऑर्डिनेटर बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को बनाया गया है। इसके अलावा प्रदर्शन की रूप रेखा तैयार करने की जिम्मेदारी गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को सौंपी गई है। 

यह भी पढ़ें: 23 हज़ार कार्यकर्ताओं के जरिए MP युवक कांग्रेस जुटाएगी कोरोना मृतकों का आंकड़ा

सोमवार को कैलाश विजयवर्गीय ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के साथ बंद कमरे में घंटो बैठकर बातचीत की थी। विजयवर्गीय ने इसे सामान्य मुलाकात बताया। इसके बाद बुधवार को बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष प्रभात झा नरोत्तम मिश्रा के आवास पहुंचे। दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक बंद कमरे में बैठक हुई। इसे भी सामान्य मुलाकात बताया गया। लेकिन राजनीतिक जानकार इस कथित सामान्य मुलाकात को असामान्य के तौर पर देख रहे हैं। 

उधर कैलाश विजयवर्गीय धुआंधार मुलाकात, बैठक यहां तक कि वेबिनार कर रहे हैं। उन्होंने केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल से दिल्ली जाकर मुलाकात की, उसके बाद भोपाल आकर मंत्री विश्वास सारंग के साथ बंद कमरे में गुपचुप बात किया। विजयवर्गीय अन्य नेताओं से भी मिल रहे हैं। इतना ही नहीं वह दूसरे राज्यों से भी मदद ले रहे हैं। उन्होंने बिहार और उत्तराखंड के बीजेपी नेताओं से ऑनलाइन माध्यम से बातचीत की है। खास बात यह है कि उन्होंने खुद ट्वीट कर बता भी दिया है कि बंगाल में चुनाव बाद उत्पन्न हुए हालातों को लेकर चर्चा हो रही है।

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि किसी एक राज्य के राजनीतिक हालातों को लेकर किसी दूसरे राज्य का नेता जब किसी तीसरे और चौथे राज्य के नेताओं के साथ मीटिंग करे, तो यह सामान्य नहीं हो सकता है। कहा तो यहां तक जा रहा है कि प्रदर्शन के लिए मध्यप्रदेश व अन्य राज्यों से हजारों कार्यकर्ताओं को बंगाल भेजा जाएगा। कार्यकर्ताओं के साथ सभी राज्यों से नेताओं की टीम जाएगी। माना जा रहा है कि बंगाल में बीजेपी का यह अबतक का सबसे बड़ा प्रदर्शन होगा। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि पीएम की बैठक में लेट जाने के कारण ममता के खिलाफ इस प्रदर्शन की रूप रेखा तैयार की जा रही है।