घर की छत पर उगा दिए बोनसाई, बगिया में 40 प्रकार के बोनसाई के पौधे

रिटायरमेंट के बाद एसएल द्विवेदी ने अपने घर की छत पर बना दी बगिया, प्रकृति को बचाने के जुनून में गिरवी रख दिया गहने

Updated: Jun 06, 2021, 09:42 PM IST

घर की छत पर उगा दिए बोनसाई, बगिया में 40 प्रकार के बोनसाई के पौधे
Photo Courtesy: ANI

जबलपुर। आज के दौर में जब पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों के बीच जागरूकता फैलाने की चर्चा बेहद जोरों पर है। ऐसे दौरा में जबलपुर के एक शख्स के मन में प्रकृति के प्रति प्रेम इतना घर चुका है कि उसने अपनी घर की छत पर ही बोनसाई के पेड़ों का बगिया तैयार कर दिया है। 

जबलपुर में रहने वाले व्यक्ति एसएल द्विवेदी ने अपनी छत पर करीब 2500 बोनसाई के पेड़ लगाए हैं। एसएल द्विवेदी की बगिया में करीब 40 प्रकार के बोनसाई पेड़ हैं। एसएल द्विवेदी से जब उनके प्रकृति प्रेम के बारे में पूछा गया तब उन्होंने बताया कि छत पर बोनसाई पेड़ लगाने की प्रेरणा उन्हें मुंबई में रहने वाली एक महिला से मिली थी। जिसने अपने घर में बोनसाई के 200 पेड़ लगाए थे। 

एसएल द्विवेदी ने कहा कि बोनसाई के बारे में पहले उन्हें अधिक जानकारी नहीं थी। इसलिए उन्होंने बोनसाई के पेड़ों के बारे में जानकारी एकत्रित करने के लिए पहले उन्होंने ढेर सारी किताबें खरीदी। किताबों से जानकारी इकट्ठा करने के बाद उन्होंने अपनी छत पर बोनसाई के पेड़ लगाने शुरू किए। देखते देखते ही बोनसाई पेड़ के प्रति उनकी दीवानगी इस कदर बढ़ी कि छत पर बोनसाई के करीब 2500 पेड़ लगा डाले। इतना ही नहीं बोनसाई के पेड़ लगाने के लिए एसएल द्विवेदी ने घर के गहने तक गिरवी रख दिए।

एसएल द्विवेदी ने मीडिया से कहा कि बोनसाई पेड़ लगाने के अपने फायदे हैं। बोनसाई के पेड़ नेचुरल प्यूरीफायर के तौर पर काम करते हैं। यह आसपास से कार्बन डाइऑक्साइड को सोख कर ऑक्सीजन देते हैं। इनसे सर्दी खांसी भी दूर रहती है। एसएल द्विवेदी बताते हैं कि रिटायरमेंट के बाद उनका पूरा समय छत पर लगाए बोनसाई के पेड़ों की देखरेख करने में बीतता है। एसएल द्विवेदी ने बताया कि उनकी पत्नी निलमी भी घर के कामकाज से जब फ्री हो जाती हैं तब वे भी बोनसाई के पेड़ों की देखदेख करते हुए अपना समय व्यतीत करती हैं।