जहां शराबबंदी हुई, वहां लोगों की दुर्गति हो गई, पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर का बयान

मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग को लेकर मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि पीने वालों तक शराब पहुंच ही जाती है, जो नहीं पीता उसे कोई भी पिला नहीं सकता

Updated: Mar 29, 2022, 05:15 PM IST

जहां शराबबंदी हुई, वहां लोगों की दुर्गति हो गई, पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर का बयान

ग्वालियर। मध्य प्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती ने शराबबंदी की मांग को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। इसी बीच पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने शराबबंदी के मसले पर सरकार का बचाव किया है। मंत्री ठाकुर ने कहा है कि जहां शराबबंदी हुई वहां लोगों की दुर्गति हो गई।

उषा ठाकुर ने ग्वालियर में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि, 'जिन राज्यों में शराबबंदी हुई वहां लोगों की और दुर्गति हो गई है। शराबबंदी हाेने के बाद भी शराब ब्लैक मार्केटिंग के जरिए पीने वालाें तक पहुंच ही जाती है। काेई व्यक्ति यदि शराब नहीं पीता है ताे उसकाे काेई जबर्दस्ती नहीं पिला सकता है। ऐसे में हमें सबसे पहले लाेगाें के मन और मानस काे बदलना जरूरी है। अध्यात्म इसमें बड़ा सहारा हाे सकता है। नशे से दूर हाे जाएं और उन्हें अध्यात्मिक की तरफ लाेगाें का ध्यान आकर्षित कराना हाेगा। इसी काे लेकर पचमढ़ी में चिंतन शिविर का आयाेजन किया गया था।'

यह भी पढ़ें: भोपाल: BJP नेता ने गन्ना जूस विक्रेता को बेरहमी से पीटा, नगर निगम से सांठगांठ कर वसूली का मामला

पर्यटन मंत्री ने आगे कहा कि, 'अगले साल मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव हाेने वाले हैं, इसलिए बीजेपी इसको लेकर रणनीति तैयार कर रही है। इस पर भी चिंतन शिविर में काफी चर्चा हुई है। बीजेपी अपनी योजना और संगठन को लेकर तैयार है।' इस दौरान मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने मंत्री उषा ठाकुर की बातों से सहमति जताते हुए कहा कि निश्चित रूप से मैं यह प्रार्थना कर रहा हूं की लोग नशीले पदार्थों का सेवन ना करें। क्योंकि यह उनकी और उनकी आने वाली पीढ़ी को भी प्रभावित करता है।

बता दें कि मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती लगातार आवाज उठा रही है। हाल ही में उन्होंने राजधानी भोपाल की एक शराब दुकान में घुसकर पत्थर फेंका था। दरअसल, वह अपने समर्थकों के साथ बीएचईएल इलाके के आजाद नगर की शराब दुकान पहुंचकर तोड़फोड़ की थी। इसका वीडियो भी खूब वायरल हुआ था।